तीन जगह चेकिंग, फिर भी हो रही नकल

नकल में सहयोग कर रही शिक्षिका को जमकर फटकारा, नोटिस जारी

By: Rajeev Goswami

Published: 03 Mar 2019, 05:45 PM IST

भिण्ड. माध्यमिक शिक्षा मंडल भोपाल की बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए गठित किए गए त्रिस्तरीय चेकिंग दल उस समय दिखावा साबित हुआ जब शहर के एक परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थी गाइड से नकल करते पकड़ी गई। त्रिस्तरीय चेकिंग के बाद भी परीक्षा केंद्र में नकल पहुंचना इस बात का संकेत है कि बोर्ड परीक्षाओं में नकल माफिया फिर से सक्रिय हो गया है। केंद्रों के निरीक्षण के दौरान खामियां पाए जाने पर कलक्टर ने एक दर्जन से अधिक अधिकारियों पर कार्रवाई की है।

शनिवार को आयोजित 12वीं की हिंदी परीक्षा के दौरान सुबह 9.30 बजे के आसपास नायब तहसीलदार मनीषा मिश्रा जैन उमावि कें द्र भिण्ड का जायजा लेने के लिए अपने दल के साथ पहुंची। जहां एक कक्ष में छात्रा पर संदेह होने पर खड़ाकर चैक किया तो उसके पास पूरी गाइड ही मिल गई। नकल करने में छात्रा का सहयोग कर रही पर्यवेक्षक शासकीय प्राथमिक डूडनपुरा में पदस्थ शिक्षिका उमादेवी को कड़ी फटकार लगाई तथा सीएस रामजीलाल मंाझी को भी व्यवस्था में सुधार करने के निर्देश दिए। शिक्षिका को शोकॉज नोटिस जारी कर दिया है। शहर के एमएलबी, मावि विक्रमपुरा, कॉटनजीन, 17 बटालियन परीक्षा केंद्रों पर भी माफिया प्रशासन के दावों को खोखला करने मेंं लगा है। ग्रामीण क्षेत्र के कई परीक्षा केंद्रों पर ओटी बोल बोलकर हल कराए जाने की सूचना है।

आदर्श मावि केंद्र पर दो दर्जन छात्र परीक्षा से वंचित : निर्धारित समय से 5 या 10 मिनट लेट हो जाने पर शनिवार को भी शहर के शासकीय आदर्श उमावि परीक्षा केंद्र्र से दो दर्जन छात्रों को परीक्षा से वंचित कर दिया गया। इनमें से कई ऐसे भी छात्र थे जो 8.45 पर केंद्र पा आ जाने का दावा कर रहे थे। छात्रों के विवाद करने पर डीईओ वीएस सिकरवार भी मौके पर पहुंचे लेकिन कलक्टर का आदेश होने के कारण उन्होंने भी हाथ खड़े कर दिए। समय पर आने का दावा कर रहे तीन छात्रों को अंदर किया गया लेकिन इसमें से एक का प्रवेश पत्र फटा निकल आने पर उसे भी बाहर कर दिया गया। शुक्रवार को हाईस्कूल परीक्षा में भी इसी केंद्र पर लेट आने वाले दर्जनों छात्रों को परीक्षा में शामिल नहीं किया गया।

4 नकल प्रकरण बने, आधा दर्जन अधिकारियों की वेतनवृद्धि रोकी

भिण्ड. बोर्ड की हायरसेकंडरी की हिंदी विषय की परीक्षा में 64 केंद्रों पर 17191 परीक्षार्थियों को परीक्षा में शामिल होना था। 1014 परीक्षार्थी परीक्षा में शामिल नहीं हुए। 16177 शामिल हुए। हिंदी की परीक्षा में 4 नकल प्रकरण बनाए गए हैं। कलक्टर छोटेसिंह ने सीएस उमावि फूप कें द्र छात्रों को नकल कराने के इरादे से आसपास बैठाए जाने पर सीएस आरएल रतनाकर की संचयी प्रभाव से दो वेतनवृद्वि रोकने के निर्देश दिए हैं। शामावि एसएएफ भवन की परीक्षा पूर्व तैयारी पूर्ण न करने पर प्रधानाध्यापक की संचयी प्रभाव से दो वेतनवृद्वि रोकने, प्रश्न-पत्र खोलने का पंचनामा न बनाने के कारण केन्द्राध्यक्ष पीके मिश्रा व्याख्याता एवं प्रेक्षक की दो वेतनवृद्वि संचयी प्रभाव से रोकने के निर्देश दिए। नयागांव थाने में नियुक्त कलक्टर प्रतिनिधि अमित श्रीवास्तव, एसएन तिवारी सीएसी के अनुपस्थित होने पर दो वेतनवृद्वि रोकने के निर्देश दिए गए हैं। जैन उमावि में अनुपस्थित रहने के कारण सर्च दल के सभी सदस्यों की दो वेतनवृद्वि रोकी है। शामावि कॉटनजीन केंद्र पर पर्यवेक्षण कार्य में लापरवाही सामने आने पर सुखदा भदौरिया एवं प्रशांत बाजपेई की दो वेतनवृद्वि संचयी रोकी गई हैं। कलक्टर छोटेसिंह एवं एसपी रूडोल्फ अल्वारेश ने शाप्रावि एसएएफ चौधरी रूस्तम सिंह गु्रप ऑफ कॉलेज डिडी, शामावि फूपए चंद्रशेखर आजाद उमावि फूप, शाउमावि, शिवा सीनियर सेकंडरी स्कूल उमरी, रामहर्षण विद्यानिकेतन, शामावि नयागांव, रामाधार सिंह शिक्षा महाविद्यालय नयागांव का निरीक्षण किया। इस दौरान बोर्ड परीक्षाओं के केद्रों पर सर्च टीमों द्वारा की जा रही तलाशी का जायजा लिया गया।

500 छात्रों के प्रवेश पत्रों पर नहीं हैं प्राचार्य के हस्ताक्षर और सील सिक्का

डाइट तथा मावि विक्रमपुरा, मां गायत्री डीएड कालेज पर परीक्षा दे रहे 500 से अधिक परीक्षार्थियों के प्रवेश पत्रों पर न तो प्राचार्य के साइन है और न ही सील। माध्यमिक शिक्षा मंडल ने आधा दर्जन से अधिक प्राइवेट स्कूलों की मान्यता बीच सत्र में ही निरस्त कर दी थी। इनमें अध्ययनरत ब"ाों को प्राइवेट घोषित कर दिया गया। बोर्ड ने पहले शासकीय उत्कृष्ट उमावि को प्रवेश पत्र वितरित करने को कहा था लेकिन संस्था के प्राचार्य ने यह कहकर साईन-सील लगाने के इंकार कर दिया था कि छात्रों का रिकॉर्ड उनके पास है ही नहीं, बोर्डने भी रिकॉॅर्डउपलब्ध नहीं करवाया।

Rajeev Goswami
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned