scriptcontainer and dumper accident one dead on makar sankranti | Accident : मकर संक्रांति पर परिवार देख रहा था राह, मौत की खबर ने मातम में बदल दी खुशियां | Patrika News

Accident : मकर संक्रांति पर परिवार देख रहा था राह, मौत की खबर ने मातम में बदल दी खुशियां

कानपुर से कंटेनर में भाड़ा लादकर मालनपुर के लिए चला था रामरूप, हाइवे पर कोहरे ने छीन ली जिंदगी

 

भिंड

Published: January 14, 2022 06:45:13 pm

फूप/भिण्ड. तीन दिन पूर्व 38 वर्षीय रामरूप तोमर बीवी, बच्चों और मां से कहकर निकले थे कि कानपुर से भाड़ा लादकर मकर संक्रांति की सुबह घर पहुंच जाएंगे। फिर हर्षोल्लास से त्योहार मनाएंगे, लेकिन नियति को ये मंजूर न था। सडक़ हादसे में हुई रामरूप की मौत की खबर ने उक्त परिवार के लिए त्योहार की खुशियां मातम में बदल दीं।
Accident : मकर संक्रांति पर परिवार देख रहा था राह, मौत की खबर ने मातम में बदल दी खुशियां
Accident : मकर संक्रांति पर परिवार देख रहा था राह, मौत की खबर ने मातम में बदल दी खुशियां
बता दें कि रामरूप तोमर पुत्र शिवपाल सिंह तोमर निवासी सींगपुरा पोरसा जिला मुरैना 12 जनवरी की सुबह मैदा की भरी बोरियों का भाड़ा लादने उत्तरप्रदेश के कानपुर के लिए रवाना हुए थे। उन्हें बोरियों की खेप मालनपुर की एक फैक्ट्री में उतारनी थी। 14 जनवरी की अलसुबह 4 बजे कंटेनर लेकर फूप थाना अंतर्गत नेशनल हाइवे 719 पर टेड़ी पुलिया के पास से गुजर रहे थे। इसी दौरान सामने से आ रहे गिट्टी से भरे डंपर से उनके कंटेनर की भिड़ंत हो गई। दरअसल, सुबह सडक़ पर कोहरे का घनत्व इतना था कि 10 मीटर दूरी की वस्तु भी स्पष्ट नजर नहीं आ रही थी। भिड़ंत में रामरूप सिंह तोमर की मौके पर ही मौत हो गई। पुलिस ने डंपर चालक के खिलाफ केस दर्ज कर शव को पीएम के लिए भिजवाने के बाद मामले को विवेचना में ले लिया है।
पूरी तरह से उधड़ गई चद्दर

हादसे में कंटनेर के चालक साइड की चद्दर पूरी तरह से उधड़ गई। ऐसे में कंटेनर के अंदर भरी मैदा की बोरियां भी फट गईं जिससे मैदा सडक़र फैल गई। डंपर की भी चालक साइड पूरी तरह से ध्वस्त हो गई। हालांकि डंपर चालक सुरक्षित बताया गया है। बताया जा रहा है कि गिट्टी से भरे डंपर का दांयी साइड का अगला टायर फट जाने के बाद वह अनियंत्रित हो गया और घने कोहरे के कारण सामने आ रहे कंटेनर से टकरा गया।
परिवार में इकलौते कमाने वाले व्यक्ति थे रामरूप तोमर

विदित हो कि अपने सात सदस्यीय परिवार का भरण पोषण करने के लिए रामरूप तोमर इकलौते व्यक्ति थे। उनकी बुजुर्ग मां उर्मिला, पिता शिवपाल सिंह तोमर के अलावा पत्नी सरोज देवी रो-रोकर बेसुध हो रही हैं। वहीं तीन मासूम बेटे शिवम तोमर, अंकेश तोमर एवं अंकुश तोमर पिता का साया सिर से उठ जाने के सहमे हुए नजर आ रहे हैं। परिवार पर न केवल आजीविका का संकट उत्पन्न हो गया है बल्कि बच्चों की पढ़ाई प्रभावित होने की आशंका भी प्रबल होती प्रतीत हो रही है।
हादसों पर प्रभावी अंकुश लगाने के लिए बीते रोज ही बैठक कर कार्ययोजना तैयार की है। हादसा प्वॉइंट पर स्पीड ब्रेकर व डिवाइडर आदि के निर्माण होंगे। अन्य कार्यवाही भी की जा रही हैं।
शैलेंद्र सिंह चौहान, एसपी भिण्ड

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमी100-100 बोरी धान लेकर पहुंचे थे 2 किसान, देखते ही कलक्टर ने तहसीलदार से कहा- जब्त करोराजस्थान में यहां JCB से मिलाया 242 क्विंटल चूरमा, 6 क्विंटल काजू बादाम किशमिश डालेShani Parvat: हाथ में मौजूद शनि पर्वत बताता है कि पैसों को लेकर कितने भाग्यशाली हैं आपफरवरी में मकर राशि में ग्रहों का महासंयोग, मेष से लेकर मीन तक इन राशियों को मिलेगा लाभNew Maruti Wagon R : अनोखे अंदाज में आ रही है आपकी फेवरेट कार, फीचर्स होंगे ख़ास और मिलेगा 32Km का माइलेज़2 बच्चों के पिता और 47 साल के मर्द पर फ़िदा है ‘पुष्पा’ की 25 साल की एक्ट्रेस, जाने कौन है वो

बड़ी खबरें

7 मार्च तक चुनावी एक्ज़िट पोल पर रोक, 2 साल की जेलJammu Kashmir: अनंतनाग के हसनपोरा में आतंकी हमला, पुलिस हेड कांस्टेबल अली मोहम्मद शहीदभरोसा बनाए रखें, प्रिंट मीडिया को कोई खतरा नहींः प्रो. संजय द्विवेदीUP Assembly Elections 2022: राजा भैया के खिलाफ कुंडा से समाजवादी के बाद बीजेपी ने घोषित की प्रत्याशी, जाने कौन है सिंधुजा मिश्रा जो राजा को देगी टक्करमहिला आयोग के नोटिस के बाद झुका SBI, विवादित सर्कुलर लिया वापसBeating the Retreat: गणतंत्र दिवस समारोह के समापन पर विजय चौक पर भव्य शो, 300 साल पुरानी है 'बीटिंग द रिट्रीट' परंपराभाजपा MLA की ‘जाति’ पर सवाल,हाईकोर्ट ने कहा- 90 दिन में सरकार करे समाधानराजनीतिक संरक्षण में हुआ है रीट परीक्षा का पेपर आउट,मंत्रिमंडल तक जुड़े हैं तार-राठौड़
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.