प्रशासन का कंटेनमेंट प्लान, शहर 25 सेक्टरों में विभाजित

कलेक्टर छोटे सिंह के अनुसार इनमें यदि कोई कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो उक्त सेक्टर को कंटेनमेंट एरिया घोषित करते हुए सील कर दिया जाएगा। कंटेनमेंट ऐरिया में आवागमन प्रतिबंधित रहेगा।

By: rishi jaiswal

Published: 04 Apr 2020, 10:33 PM IST

भिण्ड। मप्र पब्लिक हेल्थ एक्ट के अन्तर्गत अधिसूचित कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए शासन के निर्देशानुसार प्रशासन ने कंटेनमेंट प्लान तैयार किया है। इस प्लान के तहत शहर को 25 भागों में बांटा गया है।

कलेक्टर छोटे सिंह के अनुसार इनमें यदि कोई कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो उक्त सेक्टर को कंटेनमेंट एरिया घोषित करते हुए सील कर दिया जाएगा। कंटेनमेंट ऐरिया में आवागमन प्रतिबंधित रहेगा।

इस ऐरिया के निवासियों का होम क्वारंटाइन में रहना होगा। कंटेनमेंट एरिया के लिए सीएमएचओ डॉ. अजीत मिश्रा ने एक विशेष टीम बनाई है।

इसमें फिजिशियन एपीडिमियोलॉजिस्ट, पैथोलॉजिस्ट, माइकोबायोलॉजिस्ट और डाक्यूमेंटेशन स्टाफ रखा जाएगा। मेडिकल मोबाइल यूनिट में मेडिकल ऑफिसर, पेरामेडिकल स्टाफ , लेब टेक्निशियन और डाक्यूमेंटेशन स्टाफ रहेगा।

सभी वार्डों, मोहल्लों में फं्टलाइन स्वास्थ्य कार्यकर्ता-एलएचवी, एएनएम, आशा, आंगनवाडी कार्यकर्ता, सुपरवाइजर, एमपीडब्ल्यू कार्यकर्ताओं को जांच की जिम्मेदारी सांैपी गई है।

संक्रमण के संभावित लक्षण जैसे बुखार, खांसी, गले में दर्द आदि लक्षण आने पर आरआर टीम को सूचना देना सुनिश्चित करेंगे। पॉजिटिव केस के परिजन, निकट संपर्क में रहने वाले को होम क्वारंटाइन कराया जाएगा।

नपा को कराना होगा क्षेत्र का सेनेटाइजेशन


कोरोना के संदिग्ध मरीज को सेक्टर मेडिकल ऑफिसर आरआरटी द्वारा परीक्षण किए जाने तक अलग कमरे में आइसोलेशन में रखा जाएगा। कार्यकर्ताओं को पीपीई प्रोटोकॉल का पालन सुनिश्चित करना होगा। नपा को यह निर्देश दिए गए है कि वह चिन्हित किए गए क्षेत्र में प्रतिदिन सेनेटाइजेशन करे।

rishi jaiswal
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned