गोहद के बेसली पुल में आ रही दरारें

6.00 करोड़ की लागत से नए पुल का निर्माण शुरू, पुराने क्षतिग्रस्त पुल की नहीं कराई जा रही मरम्मत

By: Rajeev Goswami

Published: 10 Jan 2019, 05:28 PM IST

गोहद. नगर में बेसली डेम के पास गोहद चौराहा-गोहद रोड पर बेसली नदी पर बना ३५ साल पुराना वृहद पुल यातायात के अत्यधिक दबाव व ओवरलोड वाहनों के आवागमन से क्षतिग्रस्त हो रहा है।

उसके सुपरस्ट्रक्चर में जगह-जगह दरारें आ गई हैं, जो लगातार बढ़ रही हैं। लोक निर्माण विभाग द्वारा इस नदी पर दूसरा वृहद पुल का निर्माण शुरू किया गया है, लेकिन पुराने पुल की टूटफूट की मरम्मत की ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इससे पुल पर कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है

गोहद नगर और गोहद चौराहे के बीच विगत दो साल से ६ किलोमीटर लंबाई में फोरलेन सडक़ बनाई जा रही है। इसी तारतम्य में इस मार्ग पर बेसली नदी पर नया वृहद पुल बनाया जा रहा है। इस नए पुल पर लगभग ६.०० करोड़ रुपए खर्च हो रहे हैं। पुराने पुल का निर्माण १९८० के दशक में लगभग ४.०० करोड़ रुपए में किया गया था। इस पुल के ज्वाइंट पर दरारें आने से फुल में लगे सरिया बाहर निकल आए है जिनसे वाहनों के टायर फट रहे हैं। इसी पुल पर प्रतिदिन सुबह सैकड़ों की संख्या में नगर के महिला एवं पुरुष मॉर्निंग वॉक के लिए आते हैं।

४० टन तक के वाहन गुजर रहे पुल से

भिण्ड ग्वालियर नेशनल हाइवे से गोहद चौराहा होते हुए गोहद नगर तक प्रतिदिन इस पुल के ऊपर से लगभग १० हजार से अधिक वाहन और हजारों की संख्या में लोग गुजरते हैं। मौ से चितौरा होते हुए गोहद व ग्वालियर की ओर २० से ४० टन तक भार क्षमता वाले बड़े बड़े खनिज परिवहन करने वाले ट्रक डंपरों की आवाजाही इसी पुल से होती है। पुराना पुल लगभग ३० टन क्षमता का है, जिससे ओव्रलोड वाहन इसे लगातार खतरा पहुंचा रहे हैं। नए पुल के निर्माण में लगभग २० माह से अधिक का समय लगेगा, तब तक पुराने पुल पर यातायात जारी रहेगा। फूप-ऊमरी राजमार्ग पर स्थित क्वारी नदी का ऐसा ही एक वृहद पुल तीन साल पहले ओवरलोड वाहनों की आवाजाही से टूट चुका है। इसलिए संभावित दुर्घटनाओं को रोकने के लिए पुराने पुल की आवश्यक मरम्मत व ओवरलोड वाहनों का यातायात रोके जाने की जरूरत है। अगर गोहद पहुंचमार्ग का यह पुल टूटा तो गोहद की लगभग ९० हजार से अधिक आबादी का भिण्ड व ग्वालियर से सीधा संपर्क टूट जाएगा।

कार्य कराने तत्काल लिखा है लोनिवि को

पुल के क्षतिग्रस्त होने की जानकारी मिली है। इस संबंध में पुल का आवश्यक संधारण कार्य तत्काल कराने के लिए लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को लिखा जाएगा।

ममता शाक्य, तहसीलदार गोहद

Rajeev Goswami
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned