16 माह से खराब पड़ी 23 लाख की दमकल

16 माह से खराब पड़ी 23 लाख की दमकल
16 माह से खराब पड़ी 23 लाख की दमकल

Rajeev Goswami | Updated: 11 Oct 2019, 11:11:11 AM (IST) Bhind, Bhind, Madhya Pradesh, India

तीन बार टेंडर पर खर्चहो चुके हैं 25 हजार, फिर भी नहीं हो पाई मरम्मत, दुघर्टना में कंडम हो गई गाड़ी

फूप. डेढ़ सैकड़ों गंावों और फूप कस्बे की 20 हजार से अधिक की आबादी को आगजनी से होने वाले नुकसान से बचाने के लिए 6 साल पहले 23 लाख की लागत से खरीदी गई फायर ब्रिगेड पिछले 16 माह से खराब पड़ी है। गर्मी के मौसम में हुई आधा दर्जन से अधिक आगजनी की घटनाओं पर काबू पाने के लिए नपा भिण्ड और नप अकोड़ा की फायर ब्रिगेडों की मदद लेनी पड़ी है। तीन बार टेंडर पर 25 हजार खर्च करने के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हुआ है। दीपावली पर लगने वाले अतिशबाजी बाजार में आगजनी की संभावना को देखते हुए लोगों के चेहरों पर चिंता की लकीरे साफ दिखाई दे रही है।

16 माह पूर्व सुरपुरा तिराहे पर आगजनी पर काबू पाने के दौरान फायर ब्रिगेड में एक बेकाबू ट्रक ने पीछे से टक्कर मार दी थी। हादसे में फायर ब्रिगेड की केबिन, स्टेरिंग पूर्णरूप से क्षतिग्रस्त हो गई थी। इंजन में भी काफी नुकसान हुआ था। इसके बाद नपा ने गाड़ी को थानें रखवा दिया। यहां पर रख -रखे गाड़ी के टायर-ट्यूब और रिम भी खराब हो गए हैं। फायर ब्रिगेड कई माह से खराब पड़ी होने के बाद भी नप ने दो कर्मचारियों को तैनात कर रखा है। इन्हें करीब 15 हजार प्रतिमाह का भुगतान वेतन के रूप में किया जा रहा है।

गाड़ी की हालत देखने के बाद टेंडर डालने नहीं आते ठेकेदार : नपा के टेंडर में मरम्मत का अनुमानित खर्चा 3.00 से 3.25 लाख का बताया जा रहा है, जबकि मरम्मत में वास्तविक खर्चा 8 से 10 लाख रुपए के बीच आने की संभावना है। टेंडर होने के बाद ठेकेदार आता है और देखकर चला जाता है। वास्तविक नुकसान और टेंडर में खोली जा रही राशि में भारी अंतर होने के कारण ठेकेदार तैयार नहीं हो रहे। नप चौथी बार टेंडर निकालने की तैयारी कर रही है लेकिन इस बार मैकेनिकल इंजीनियर से एस्टीमेट बनवाकर टेंडर निकाला जाएगा।

-फ ायर ब्रिगेड की मरम्मत कराने के लिए तीन बार टेंडर किए जा चुके है। कोई ठेकेदार टेंडर डालने के लिए आगे नहीं आ रहा। इस बार मैकेनिकल इंजीनियर से मुआयना कराने के बाद टेंडर होंगे।

सतीश शर्मा सीएमओ फूप नप

-आतिशबाजी बाजार शुरू होने वाला है कई दुकानदार मोहल्लों में आतिशबाजी बेच रहे हैं। ऐसे में आग लगनी की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। यदि कोई घटना होती है तो जब तक भिण्ड से गाड़ी आएगी तब तक सब कुछ राख हो सकता है।

दिनेश कुमार शर्मा स्थानीय निवासी

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned