बंदूक लेकर खड़ा था पुलिस ने लायसेंस मांगा तो पकड़ में आया अवैध हथियारों का कारखाना

shyamendra parihar

Publish: Sep, 17 2017 06:22:15 PM (IST)

Bhind, Madhya Pradesh, India
बंदूक लेकर खड़ा था पुलिस ने लायसेंस मांगा तो पकड़ में आया अवैध हथियारों का कारखाना

भिण्ड. एसपी अनिल सिंह कुशवाह के निर्देश एवं एएसपी राजेंद्र वर्मा के मार्ग दर्शन में देहात एवं भारौली थाना प्रभारी ने संयुक्त रूप से की कार्यवाही में श

भिण्ड. एसपी अनिल सिंह कुशवाह के निर्देश एवं एएसपी राजेंद्र वर्मा के मार्ग दर्शन में देहात एवं भारौली थाना प्रभारी ने संयुक्त रूप से की कार्यवाही में शहर के माधवगंज हाट इलाके में संचालित अवैध हथियार बनाने का कारखाना पकड़ लिया ओर उसे सील कर दिया। पुलिस ने यहां से ३१५ बोर बंदूक व दो जिंदा कारतूसों के अलावा अधबनी रायफलें एवं बैरल बंदूक बनाने के औजार जब्त किए हैं।

टीआई देहात उदयभान सिंह यादव एवं भारौली थाना प्रभारी विनोद कुमार छाबई ने एएसआई सत्यवीर सिंह सहित एक दर्जन जवानों को साथ लेकर भारौली रोड पर पुलिया पर संदिग्ध स्थिति में खड़े यूनिश खां पुत्र शहजाद खां निवासी राजनगर को पकड़ लिया। आरोपी के कब्जे से एक ३१५ बोर बंदूक व दो जिंदा कारतूस जब्त किए लेकिन आरोपी के पास शस्त्र लायसेंस नहीं था।

पूछने पर उसने बताया कि उसकी हाट बाजार में बंदूक मरम्मत की दुकान है। पुलिस ने जब दुकान पर पहुंचकर पड़ताल की तो दुकान में बंदूक बनाने के औजार, वैरल व अधबनी बंदूक बरामद की गई, जबकि दुकानदार के पास हथियार बनाने का लायसेंस भी नहीं पाया गया। सामग्री जब्त करने के उपरांत पुलिस अधिकारियों ने विधिवत रूप से दुकान को सील कराने की कार्यवाही की।

आरोपी यूनिश खां के खिलाफ आम्र्सएक्ट के अलावा अवैध रूप से हथियार बनाने की कार्यवाही की गई है।

 


जिसने की शिकायत उसी की थ्रीडी मशीन जब्त

पत्थर खदान पर अवैध रूप से चलती मिली थ्रीडी

भिण्ड. खनिज अमले ने मय पुलिस बल के साथ शनिवार को निरीक्षण के दौरान गोहद क्षेत्र के डांग सरकार इलाके में संचालित पत्थर खदान पर से दो थ्रीडी पकड़ लीं हैं। रविवार को खदान का सीमांकन किया जाएगा ताकि ये पता लगाया जा सके कि मशीन स्वीकृत खदान में चल रही थी या अवैध क्षेत्र में।

खनिज निरीक्षक संदेश पिपलौदिया के अनुसार पत्थर खदान लीज होल्डर हरपाल सिंह तोमर ने शिकायत की थी कि उसकी खदान के आसपास अवैध रूप से खनन किया जा रहा है। शिकायत पर खनिज निरीक्षक आधा दर्जन सदस्यीय अमले के साथ शनिवार को निरीक्षण के लिए पहुंचे तो मौके पर दो थ्रीडी मशीन पाई गईं।

हैरानी की बात ये है कि दोनों ही मशीनें शिकायतकर्ता हरपाल सिंह की हैं। ऐसे में खनिज अमले का कहना है कि दोनों मशीनें स्वीकृत खदान में चल रहीं थीं या अनाधिकृत क्षेत्र से पत्थर निकाल रहीं थीं।

यह तो सीमांकन के बाद रविवार को स्पष्ट होगा। बहरहाल दोनों ही मशीनों को अभिरक्षा में ले लिया गया है।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

Ad Block is Banned