ऐसे चल रहा है रेत का अवैध कारोबार, ये हैं तरीके

जिले में अवैध रेत खनन पर तमाम प्रयासों के बाद भी प्रभावी अंकुश नहीं लग पाया है।


भिंड। जिले में अवैध रेत खनन पर तमाम प्रयासों के बाद भी प्रभावी अंकुश नहीं लग पाया है। आलम ये है कि जिले के रौन तथा अमायन थाना अंतर्गत न केवल मजदूरों के जरिए बल्कि पॉकलेन मशीनों के माध्यम से भी बड़े पैमाने पर अवैध रूप से रेत निकाला जा रहा है। पत्रिका द्वारा सोमवार को रौन, अमायन एवं नयागांव क्षेत्र की रेत खदानों पर किए गए भ्रमण के बाद जो स्थिति सामने आई उससे खनन माफियाओं के हौसले प्रशासन से भी अधिक बुलंद दिखाई पड़ रहे हैं।

सोमवार सुबह करीब 10 बजे नयागांव थाना अंतर्गत जखमौली, ओझा एवं टेहनगुर रेत खदान पर बेलचों से मजदूरों के जरिए रेत के ट्रैक्टर भरते हुए मिले। वहीं रौन थाना क्षेत्र के निवसाई खदान पर पॉकलेन मशीन के जरिए न केवल ट्रैक्टर बल्कि डंपर तक रेत से भरे जा रहे थे। वहीं अमायन थाना इलाके में संचालित अजीता, सांधुरी, बछरेंटा एवं खेरिया खदान पर भी पॉकलेन मशीनों से अवैध खनन होता देखा गया। जिले की उपरोक्त रेत खदानों पर माफिया द्वारा किए जा रहे अवैध खनन के न केवल फोटो ग्राफ्स मौजूद हैं बल्कि वीडियो क्लिप भी है।

बंदूक के साये में चलता है गोरखधंधा
बताना मुनासिब है कि प्रत्येक खदान पर आधा दर्जन शस्त्र चौकसी के लिए तैनात रहते हैं, जिनकी जिम्मेदारी यही है कि कोई भी बाहरी व्यक्ति नजर आए तो उस पर हमला कर उसे भगाए तथा चार पहिया का वाहन आता दिखाई देने पर तत्काल अलर्ट करें ताकि मौके से पॉकलेन मशीन व वाहनों को हटाकर दूसरी जगह शिफ्ट किया जा सके।

इन इलाकों में किए जा रहे रेत के भण्डारण
रौन क्षेत्र की निवसाई खदान से निकाले जा रहे रेत को निवसाई गांव में ही भण्डारण किया जा रहा है, नयागांव थाना क्षेत्र की खदानों से हो रहे खनन का रेत अतरसूमा, पुरा डूमना, टेहनगुर, हिलगवां, जखमौली, ओझा गांवों में भण्डारित किया जा रहा है। इसी प्रकार अमायन क्षेत्र की खदानों के रेत का भण्डारण बरेठी, खेरिया, अजीता, सांधुरी, बछरेंटा, अड़ोखर में इक_ा किया जा रहा है।

'कुंअर साहब' करता है पुलिस के लिए वसूली 
सूत्रों द्वारा उपलब्ध कराए गए साक्ष्यों के अनुसार कुंअर साहब नाम का एक व्यक्ति थानों के लिए वसूली करता है। मध्यस्तता निभाने वाला यह शख्श अक्सर थानों के इर्दगिर्द ही नजर आता है।

"योजनाबद्ध तरीके ऐसी सभी खदानों पर छापामार कार्रवाई की जाएगी। हम कार्ययोजना तैयार कर रहे हैं।"
जेएस भिड़े, जिला खनिज अधिकारी भिण्ड
Show More
Shyamendra Parihar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned