बस यार प्यार मत करना.. कहा और झूल गया फंदे पर

मरने से पहले दो वीडियो बनाकर फेसबुक पर किए अपलोड
वीडियो बनाते वक्त जिस अंगोछे से पसीना पोंछ रहा था उसी को बनाया फंदा

गोरमी. छलकती आंखों और लडखड़़ाती जुबान से अपने जीवन के आखरी शब्द के रूप में 20 वर्षीय युवक ने कहा हाथ जोड़कर निवेदन है बस यार प्यार मत करना। इन शब्दों के साथ ही वीडियो फेसबुक पर अपलोड करने के बाद युवक पेड़ पर चढ़ गया। करीब 15 से 18 फीट ऊंची टहनी पर फंदा डालकर खुदकुशी कर ली। घटना भिण्ड जिले के गोरमी थाना अंतर्गत पटेल कॉलेज रोड इलाके में 02 अगस्त की सुबह 9 से 10 बजे के बीच की है।


पुलिस के अनुसार गोलू नामदेव पुत्र हरीबाबू नामदेव निवासी वार्ड क्रमांक 13 गोरमी का शव कस्बे से करीब एक किलोमीटर दूर रोड किनारे स्थित सागोन के पेड़ की टहनी से लटका हुआ खेतों पर काम करने पहुंचे लोगों ने देखा। सूचना उपरांत मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से उतरवाकर उसकी शिनाख्त कराने के प्रयास किए। कुछ देर में ही स्पष्ट हो गया कि मृतक युवक गोरमी कस्बे के वार्ड क्रमांक 13 निवासी मजदूर हरीबाबू नामदेव का बेटा है। युवक के पिता और भाई अहमदाबाद में रहकर मजदूरी कर रहे हैं।


जिस अंगोछे से वीडियो बनाते वक्त पसीना पोंछ रहा था उसी अंगोछे का बनाया फंदा


गोलू नामदेव वीडियो बनाते वक्त बेहद गमजदा दिख रहा था। जुबान साथ नहीं दे रही थी और आंखों से आंसू छलक रहे थे। ऊपर से उमस भरी गर्मी से निकल रहे पसीने को पोंछने के लिए वह जिस अंगोछे का उपयोग कर रहा था उसी लाल व पीले रंग के अंगोछे को आत्महत्या के लिए फंदे के रूप में भी इस्तेमाल किया।
49 सेकंड के पहले वीडियो में मरने से पूर्व ये कहा
जिससे सक्सेस हो उससे ही प्यार करना, फालतू में मेरी तरह कोई मरे वह अच्छा नहीं है। बस हाथ जोड़कर निवेदन है प्यार-व्यार के चक्कर में मत पडऩा। सब दोस्तों ने सपोर्ट किया उनसे आज हाथ जोड़कर माफी मांगता हूं। बस इतना है कि आगे पीछे देखते रहना, जब तक थे तब साथ दिया। मैर जाऊं कोई दिक्कत नहीं, इसमें किसी दूसरे का कोई दोष नहीं।


23 सेकंड के दूसरे वीडियो में मरने से पूर्व ये बोला हताश प्रेमी- वो मुझे बहुत चाहती है, मैं भी उसे बहुत चाहता हूं यार, मर सकता हंू उसके लिए बस इतना कर सकता हूं। मगर वो सामने दूसरे के साथ घूमे और रोज मौत मिले, इससे अच्छा है अपने हाथ से आसान मौत मरूं। बस यार प्यार मत करना।


शव को फंदे से उतरवाने के बाद पीएम के लिए भिजवा दिया है। आत्महत्या के पीछे क्या वजह रही और ये परिस्थितियां कैसे निर्मित हुईं इसकी विवेचना की जा रही है। जांच में दोषी पाए जाने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।
मनोज सिंह राजपूत, थाना प्रभारी गोरमी

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned