नाती ने की मोहब्बत, बूढ़े नाना को भुगतना पड़ा ये खौफनाक अंजाम

गांव की युवती को भगा ले गया युवक, युवती के परिजन ने युवक के बुजुर्ग नाना को किया आग के हवाले, गंभीर हालत में अस्पताल में चल रहा इलाज

By: Shailendra Sharma

Published: 15 Jun 2020, 02:49 PM IST

भिंड. चंबल अंचल में लॉकडाउन के बीच एक दिलदहला देने वाली वारदात हुई। मामला भिंड जिले छरेंटा गांव का है जहां रहने वाले टुंडेलाल जाटव घर में सो रहे थे तभी किसी ने उन्हें आग के हवाले कर दिया फिलहाल बुजुर्ग की हालत गंभीर बनी हुई है और ग्वालियर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बुजुर्ग टुंडेलाल जाटव को जिंदा जलाने का आरोप गांव के ही दबंग लोगों पर लग रहा है। हैरानी की बात तो ये है कि घटना को 12 घंटों से ज्यादा का वक्त गुजर चुका है लेकिन पुलिस ने अभी तक मुकदमा दर्ज नहीं किया है।

 

jinda_jalaya.jpg

दबंगों की बेटी को भगा ले गया नाती
बताया जा रहा है कि बुजुर्ग टुंडेलाल का नाती संजीव गांव की ही रहने वाली एक युवती को 4 जून को भगाकर ले गया है और उसी के बाद युवती के परिजन ने इस घटना को अंजाम दिया है। टुंडेलाल की पत्नी रामबेटी ने बताया कि संजीव युवती को लेकर भाग गया है शनिवार को युवती के परिजन पुलिस के साथ उनके घर आए थे और बुरी तरह धमकाया। पुलिस ने शाम तक बुजुर्ग पति-पत्नी को थाने आने के लिए कहा था और उसी रात जब बुजुर्ग टुंडेलाल गर्मी ज्यादा होने के कारण घर के बाहर सो रहे थे तो उन्हें जिंदा जलाने की कोशिश की गई। रात को करीब दो बजे जब पति के चीखने की आवाज सुनकर रामबेटी की नींद खुली तो उसने देखा कि पति टुंडेलाल आग की लपटों में घिरे चीख रहे थे, दो तीन लोग टुंडेलाल को आग के हवाले कर रहे थे उसने भी शोर मचाया तो आग लगाने वाले लोग भाग गए और मोहल्ले वाले लोग भी मौके पर पहुंच गए।

 

घंटों बाद घटनास्थल पर पहुंची पुलिस
बुजुर्ग की पत्नी रामबेटी ने बताया कि घटना के तुरंत बाद उन्होंने भीमनगर में रहने वाले अपने रिश्तेदार को घटना के बारे में बताया उसने पुलिस को सूचना दी लेकिन कई घंटों तक पुलिस मौके पर नहीं पहुंची। सुबह करीब 6 बजे एंडोरी थाने का स्टाफ घर पहुंचा और तब कहीं जाकर बुजुर्ग टुंडेलाल को गोहद अस्पताल ले जाया गया जहां से हालत गंभीर होने के कारण ग्वालियर रेफर कर दिया गया है।

युवती के परिजन ने दी थी धमकी
रामबेटी ने आरोप लगाते हुए कहा है कि पुलिस के साथ जब युवती के परिजन उनके घर आए थे तो पुलिस के सामने ही धमकी दी थी कि अगर शाम तक संजीव को थाने नहीं पहुंचाया तो अंजाम बुरा होगा। रामबेटी साफ तौर पर युवती के परिजन पर आरोप लगा रही है लेकिन हैरानी की बात तो ये है कि घटना के इतने घंटों बाद भी पुलिस ने मुकदमा तक दर्ज नहीं किया है।

Shailendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned