scriptMadhya Pradesh bhind lahar illegal sand mining sindh river flood | Madhya Pradesh- सिंध नदी में आई बाढ़ के बाद का नजारा, कई ट्रक आधे-आधे रेत में दब गए | Patrika News

Madhya Pradesh- सिंध नदी में आई बाढ़ के बाद का नजारा, कई ट्रक आधे-आधे रेत में दब गए

Madhya Pradesh - सिंध नदी में अचानक बाढ़ आ जाने से 50 से अधिक ट्रक नदी से बाहर नहीं निकल पाए थे...।

भिंड

Updated: July 23, 2022 02:22:03 pm

भिंड। लहार क्षेत्र के सिंध नदी में पर्रायच घाट पर फंसे करीब आधा सैकड़ा से अधिक वाहन जल स्तर बढऩे से फंस गए। उसके बार उन वाहनों पर कार्रवाई की गई। पुलिस ने शुक्रवार को मशीनेां के जरिए नदी से बाहर निकालने का भरसक प्रयास करना पड़ा। उसमें से कुछ तो निकले और कुछ अभी भी फंसे हुए हैं।

bhind.png

लहार थाना पुलिस की ओर से नदी में रेत और पानी में फंसे वाहनों को बाहर निकालने के लिए जेसीबी और पॉकलेन मशीनों को उपयोग किया गया। इस दौरान पुलिस विभाग, राजस्व विभाग के अधिकारी मौजूद रहे। वहीं सिंध नदी के पर्रायच घाट में रेत में वाहनों के पहिए पूरी तरह से फंस गए। वहीं कुछ ट्रकों के पहिए रेत में फंस गए। पुलिस ने काफी मशक्कत के बाद नदी में फंसे कुछ वाहनों को बाहर निकाला। वहीं वाहनों पर मामला दर्ज कर लिया गया है।

सिंध नदी में फंसे वाहनों को मशीनों के माध्यम से बाहर निकाला जा रहा है। मामले में राजस्व विभाग की ओर से कार्रवाई की गई है। कार्रवाई के बाद वाहन पुलिस को सुपुर्द किए गए हैं। मौके पर पुलिस सुरक्षा के लिए पहुंचे।

-अवनीश बंसल, एसडीओपी, लहार

यह भी पढ़ेंः सिंध नदी में अचानक बाढ़ आने से फंसे 50 ट्रक

यह भी पढ़ेंः अवैध रेत का खनन करने वाले 62 ट्रक जब्त, खबर के बाद जागे जिम्मेदार

बाढ़ में फंस गए थे 50 से अधिक ट्रक

दो दिन पहले सिंध नदी में आई अचानक बाढ़ में 50 से अधिक ट्रक फंस गए थे। इन ट्रकों के जरिए रेत माफिया अवैध रूप से खनन कर रहे थे। इसका वीडियो भी वायरल हुआ था। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में खनन माफिया राजनेताओं और अफसरों के साथ मिलकर किस तरह नदियों को छलनी कर रहा है। बारिश के मौसम में नदियों से रेत निकालने की मनाही होती है, लेकिन रेत माफिया इस समय भी रेत निकालना बंद नहीं कर रहा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

रोहिंग्या शरणार्थियों को फ्लैट देने की खबर है झूठी, गृह मंत्रालय ने कहा- केंद्र ने ऐसा कोई आदेश नहीं दियागुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस को बड़ा झटका, वरिष्ठ नेता नरेश रावल और राजू परमार ने थामी भाजपा की कमानलालू यादव ने बताया 2024 का प्लान, बोले- तानाशाह सरकार को हटाना हमारा मकसद, सुशील मोदी को बताया झूठाMaharashtra Monsoon Session: व्हिप को लेकर आमने-सामने हुए शिंदे गुट और ठाकरे खेमा, महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष का जमकर हंगामाBJP के नए संसदीय बोर्ड और चुनाव समिति का गठन, गडकरी व शिवराज की छुट्टी, देखिए कौन-कौन नेता शामिलजिम्बाब्वे दौरे पर गई भारतीय टीम को BCCI ने दी सख्त हिदायत, पूल में जाने से रोका, ज्यादा देर नहाने से भी किया मानाकिडनैंपिग के आरोपी हैं बिहार के कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह, सरेंडर वाले दिन ही ली शपथ, नीतीश बोले-मुझे जानकारी नहींदिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने लॉन्च किया ‘मेक इंडिया नंबर-1’ कैंपेन, पूछा - आजादी के 75 वर्ष बाद भी हम बाकी देशों से पीछे क्यों?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.