पत्रिका इम्पेक्ट : मजदूरों की मदद को पहुंचे समाजसेवी

एक वक्त का खाना खाकर सो रहे थे गरीब परिवार

 

By: rishi jaiswal

Published: 24 May 2020, 11:16 PM IST

ऊमरी. विकासखंड भिण्ड के ऊमरी कस्बे में पिछले एक पखवाड़े से एक वक्त खाना खाकर सो रहे गरीब मजदूर परिवारों की मदद के लिए भले ही प्रशासन नहीं पहुंचा, लेकिन समाजसेवियों ने पहुंचकर राशन सामग्री मुहैया करा दी है। यहां बता दें कि पत्रिका द्वारा प्रथम पृष्ठ पर 15 दिन से एक वक्त बिना खाना खाए सो रहे सात परिवार, शीर्षक से खबर को प्रमुखता से प्रकाशित किया था।

ऊमरी एवं ग्राम पंचायत सगरा में कुल सात परिवारों के पास न तो बीपीएल कार्ड हैं और न ही शासन द्वारा लॉकडाउन के दिनों में एेसे परिवारों के लिए भेजा गया राशन उपलब्ध कराया गया। लिहाजा यह परिवार एक वक्त खाना खाकर दूसरे वक्त भूखे सोने के लिए मजबूर बने हुए थे। पत्रिका द्वारा खबर प्रकाशित किए जाने के बाद समाजसेवी वीरेंद्र यादव राशन लेकर गरीब परिवारों के बीच रविवार की दोपहर पहुंचे और उन्हें करीब 10 से 10 दिन की राशन सामग्री उपलब्ध कराई। ऊमरी कस्बे के सभी जरूरतमंद परिवारों को आटा, सब्जी, दाल तथा नकद राशि भी भेंट कर मदद की गई। एेसे अन्य सोशल वर्कर भी उनकी मदद के लिए सक्रिय हो गए हैं।

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned