चिकित्सक कक्ष से पुलिसकर्मी ने चुराया सेनिटाइजर

जिला अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में तैनात था जवान, सीसीटीवी में कैद हुई हरकत

भिण्ड. कोरोना वायरस के संक्रमण का खौफ इस कदर छा गया है कि सेनिटाइजर न होने की स्थिति में कानून के मुहाफिज ही अपराध करने पर उतारू हो रहे हैं। जी हां जिला अस्पताल के ट्रामा सेंटर के चिकित्सक कक्ष से ड््यूटी पर तैनात चिकित्सक का सेनेटाइजर चोरी हो गया। यह कारनामा किसी आम आदमी ने नहीं बल्कि सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों द्वारा किया गया। असल में यह पूरा नजारा सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गया है।

रविवार की दोपहर करीब डेढ़ बजे जिला अस्पताल में चिकित्सक एसके बिरथरिया कुछ देर के लिए अपना कक्ष छोडक़र वार्ड में मरीज को देखने के लिए गए थे। इसी दौरान वहां तैनात दो पुलिसकर्मी जिसमें एक बिना यूनिफॉर्म में था, दोनों ने सेनिटाइजर को उठाया और जेब में रखकर निकल लिए। वार्ड से राउण्ड लेकर जब डॉक्टर वापस आए तो उन्हें सेनिटाइजर नहीं मिला। जब उन्होंने सीसीटीवी फुटेज देखे तो पुलिसकर्मियों की हरकत पता चली

इधर धौड़ पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम, खानापूर्ति कर लौटी (खूजा) : ग्राम धौड़ में बाहर से आए लोगों की जानकारी मिलने पर रविवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव पहुंची, लेकिन बिना जांच किए ही लौट आई। इस दौरान टीम के सदस्य लोगों को सिर्फ समझाइश देकर अधिकारी खानापूर्ति कर गए।

रविवार को भांडेर बीएमओ डॉआर एस परिहार, डॉ राजेंद्र सोनी एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सोहन में पदस्थ डॉ आर पी कनेरिया ग्राम धौंड़ में पहुंचे। उन्होने बाहर से आए ग्रामीणों को 14 दिन तक अकेले रहने, लोगों से दूर रहने तथा बार-बार हाथ धोने की समझाइश दी। हालांकि इस दौरान न तो ग्रामीणों की जांच की गई और न ही उन्हें मास्क या सेनेटाइजर का वितरण किया गया। विभाग की टीम द्वारा की गई इस रस्म अदायगी से ग्रामीणों में नाराजगी है।

Rajeev Goswami Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned