गंदगी देख भड़के कलेक्टर, नपा अमले पर फूटा गुस्सा

15 दिन का वेतन काटने तथा दो वेतनवृद्धियां रोकने, स्वास्थ्य निरीक्षकों का एक दिन का वेतन काटने  के निर्देश नपा सीएमओ को दिए


भिण्ड. बुधवार को  अलसुबह शहर की साफ-सफाई का मुआयना करने के लिए निकले कलेेक्टर डा. इलैया राजाटी का गुस्सा शहर में चहुंओर गंदगी पसरी  देख सातवें आसमान पर पहुंच गया। स्वास्थ्य अधिकारी आरके नरवरिया का 15 दिन का वेतन काटने तथा दो वेतनवृद्धियां रोकने, स्वास्थ्य निरीक्षकों का एक दिन का वेतन काटने  के निर्देश नपा सीएमओ को दिए। कचरा सड़क पर फैंकने वालों को जमकर फटकार लगाई। जुर्माना लगाने की चेतावनी भी दी।
कलेक्टर सुबह 6.30 बजे नपा अमले के साथ निकले और सबसे पहले रोडवेज बस स्टैण्ड पर पहुंचे।यहां पर चारों ओर गंदगी के ढ़ेर, शौचालयों, प्रसाधन घरों में  गंदगी के देख उनका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। इसके बाद सुभाष  चौराहे पर कलेक्टर को ऐसा  ही नजारा  देखने को मिला। उन्होंने साथ चल रहे नपा के स्वास्थ्य  अधिकारी आरके नरवरिया को जमकर फटकार लगाई। गंदगी के लिए जिम्मेदार मानते हुए स्वास्थ्य निरीक्षकों का एक- एक दिन का वेतन काटने दरोगा रूपनारायण को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश सीएमओ जेएन पारा को दिए। अन्य अनुपस्थित पाए गए सफाई कर्मियों पर भी कार्यवाही के लिए कहा है। भ्रमण के दौरान एक वृद्ध सड़क पर कचरा पटकते देख गया, कलेक्टर ने उसे चेतावनी दी कि कचरा नियत स्थान पर ही डाले या नपा की गाड़ी  में अन्यथा जुर्माना  भुगतने के लिए तैयार रहें।गौरतलब है कि कलेक्टर ने कार्यभार संभालने के बाद ही रोडवेज बस स्टैण्ड की सुध ली  थी और उसका रंगरोगन कर चमका दिया था, महिला और  पुरुषों के अलग शौचालयों का भी निर्माण करा दिया गया था।नियमित साफ सफाई की जिम्मेदारी भी नपा को सौंपी गई  थी। वर्तमान में बस स्टैण्ड पर दस-दस दिनों तक झाडू नहीं लगती।  शौचालय गंदेे होने के कारण यात्री खुले मैदान का उपयोग करने को मजबूर हैं।
दुकानदार दस  दिन में करें  डस्टबिन का इंतजाम, अन्यथा कार्यवाही
बाजार और सड़कों पर गंदगी देख दुकानदार क ो सख्त निर्देश दिए हैं कि  दस दिन के अंदर दुकानों के बाहर डस्टबिन रखी जाए और  साफ रखने के लिए पॉलिथिन भी लगाई जाए ।ऐसा नहीं करने पर दुकानदारों पर जुर्माना करने के निर्देश नपा  को दिए गए हैं।
बिना अनुमति के मकान बनाया तो कार्यवाही
बिना अनुमति के भवनों का निर्माण शहर के लिए संकट बना हुआ है। ज्यादातर समस्याओं  का कारण  भी यही हैं।  कलेक्टर ने अपील की है कि बिना नपा की अनुमति के भवनों  का  निर्माण न करें। यदि अनुमति के बिना निर्माण कराया गया तो जुर्माना वसूला जाएगा।

Gaurav Sen Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned