बारिश से सड़कें  बन गईं दलदल, खराब रास्तों ने ले ली मासूम की जान

जिले भर में  36 ऐसे चिन्हित गांव हैं जहां पहुंच मार्ग नहीं हैं और ग्रामीणजन स्वास्थ्य, शिक्षा एवं अन्य रोज की जरूरतों के लिए रोज मुसीबत का सामना करते हैं।

भिण्ड। जनपद पंचायत भिण्ड के मिर्चोली गांव में अभी तक पक्की रोड नहीं बन पाने के चलते संदीप यादव की दो वर्षीय बालिका रविवार की देर रात बीमार हुई और समय पर अस्पताल नहीं पहुंच पाने के कारण मर गई। जिले भर में  36 ऐसे चिन्हित गांव हैं जहां पहुंचमार्ग नहीं हैं और ग्रामीणजन स्वास्थ्य, शिक्षा एवं अन्य रोज की जरूरतों के लिए रोज मुसीबत का सामना करते हैं।

स्थिति ये  कि रास्ते में दलदल हो जाने के कारण लोग कई दिनों तक गांव में ही फंसे रहते हैं और किसी के बीमार होने या प्रसव के दौरान संबंधित मरीज को चारपाई सहित कंधे पर रखने के बाद चार लोग पांनी में धंसकर ले जाते हैं। ऐसे में अधिकांश मरीजों की मौत भी हो जाती है।

समस्याग्रस्त गांवों के लोगों द्वारा स्थानीय जनप्रतिनिधियों के अलावा  जिला प्रशासन के अधिकारियों से भी  गई बार गुहार लगाई गई लेकिन उनकी समस्या जस की तस बनी हुई है। विदित हो कि सड़क विहीन गांव में गुजरे बीते पांच सालों में प्रसव पीडि़त व अन्य बीमारजन लोगों सहित करीब 19 लोगों की मौत हो चुकी है। ग्रामीण अब आंदोलन केे मूड में है।

ये गांव हैं सड़क विहीन
नखलौली, सूरजपुरा, नखलौली की मढ़ैयन, कमईं, सांगली, दिन्नपुरा, महेरा, मघारा, नरीपुरा ऐसे गांव हैं जहां बरसात के दिनों में लोग गांवों में ही घिरकर रह जाते हैं। ऐसे में जहां बच्चे स्कूल नहीं पहुंच पाते हैं वहीं बीमारों को समय पर उपचार नहीं मिल पाता। इतना ही नहीं शहर से रास्ता अवरुद्ध रहने के चलते इस आधुनिक युग में भी महिलाओं को हाथ की चक्की से ही गेहूं पीसना पड़ रहे हैं।

वहीं रौन क्षेत्र में चंदावली, हमीरपुरा, दबरेहा, अंधियारी, निवसाई, सींगपुरा तथा मिहोना के पड़ोहन गांव के लिए अभी तक पक्के रास्ते नहीं बन पाए हैं। इसी प्रकार मेहगांव जनपद अंतर्गत- सुकाण्ड, आरौली ग्राम पंचायत के छह गांव, पचेरा, सौंधा, चंदपुरा, मानपुरा तथा भिण्ड क्षेत्र के दीनपुरा खोड़, सींगपुरा अकोड़ा, छकूपुरा, गिरंदपुरा, परसोना की ठार, मोतीपुरा, बिलाव का पुरा, देवगढ़, मिर्चोली गांव में पक्की रोड नहीं बन पाई है।

"जिले में ऐसे जितने भी गांव हैं उन्हें चिन्हित करवाकर सड़क निर्माण की प्रक्रिया शुरू कराई जाएगी।"
प्रवीण सिंह, सीईओ जिला पंचायत भिण्ड
Show More
Shyamendra Parihar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned