अहमदाबाद-गोरखपुर से आए 107 राहगीरों की कराई स्क्रीनिंग, घरों में ही रहेंगे आइसोलेट

गांवों की ओर रवानगी से पूर्व सीएमएचओ ने दी चेतावनी, लापरवाही बरती तो जाना होगा जेल, खांसी और जुकाम की शिकायत होते ही जिला अस्पताल की ओर दौड़ लगा रहे भयभीत लोग

By: Rajeev Goswami

Published: 22 Mar 2020, 10:33 PM IST

भिण्ड. कोरोना वायरस संक्रमण के चलते महानगरों में रोजगार समाप्त होने के बाद बड़ी संख्या में मजदूरों का पैतृक गांव लौटना शुरू हो जाने से स्थानीय प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की परेशानी बढ़ गई है। जनता कफ्र्यू के दौरान 24 घंटे के भीतर ही 107 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें घर में ही आइसोलेट रहने के निर्देश के साथ घरों की ओर रवाना किया गया है।

दोपहर 1.30 बजे के आसपास जनता कफ्र्यू के दौरान पुलिस की नजर ग्वालियर की ओर से आ रहे एक लोडिंग वाहन पर पड़ी। इसमें 26 मजदूर सवार थे, वाहन रोककर पूछताछ करने पर पता चला कि ये लोग अहमदाबाद से आ रहे हंै। पुलिस सभी को लेकर जिला अस्पताल आई। ट्रामा सेंटर के बाहर सभी को एक कतार में एक से डेढ़ मीटर की दूरी पर खड़ाकर क्लिनिकल जांच की गई। शरीर का तापमान और ऑक्सीजन ग्रहण करने की क्षमता देखी गई और सभी के नाम पते दर्ज कर गंाव की ओर रवाना किया गया।

मंगला एक्सप्रेस से आए ग्वालियर

उक्त सभी मजदूर भोपाल से मंगला एक्सप्रेस पर सवार होकर ग्वालियर तक आए थे, लेकिन जब भिण्ड की ओर आने के लिए उन्हें कोई वाहन नहीं मिला तो लोडर किराए पर आ गए। स्वास्थ्य विभाग को इन मजदूरों में कोरोना वायरस के संक्रमण की आशंका है। इसी प्रकार दोपहर 12 बजे के आसपास परेड चौराहे पर पुलिस की टीम ने गोरखपुर से आ रहे तीन राहगीरों को पकडक़र मेडिकल परीक्षण कराया है। ये सभी भिण्ड जिले के ही रहने वाले हैं। गोरखपुर किसी काम से गए थे। इटावा तक पूर्वा एक्सप्रेस से आए और वहां से किसी प्रकार भिण्ड आ गए। 24 घंटे के भीतर देश के विभिन्न हिस्सों से आए 24 पुरुषों और 11 महिलाओं का भी क्लिनिकली परीक्षण कराकर घरों में ही आइसोलेट रहने की सलाह दी है। मुख्य बात यह रही कि जिसे भी सीजनल खांसी, जुकाम हो रहा है वो भी कोरोना के भय के चलते सीधे जिला अस्पताल की ओर दौड़ लगा रहा है। पुलिस ने ऐसे तमाम लोगों को बीच रास्ते में ही डॉक्टरों की टीम बुलाकर उनका चैकअप कराया है। लोगों के बीच यह भी चर्चा रही कि जनता कफ्र्यू और लंबा हो सकता है। संभवत: वायरस की चैन तोडऩे के लिए एक या दो दिन में फिर से ऐसा ही नजरा देखने को मिले।

Rajeev Goswami
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned