आखिर अपनों की लाड़ली ने क्यों लगाई गौरी में छलांग

shyamendra parihar

Publish: Sep, 17 2017 04:15:16 (IST)

Bhind, Madhya Pradesh, India
आखिर अपनों की लाड़ली ने क्यों लगाई गौरी में छलांग

भिण्ड वह पॉलिटेक्निक छात्रा है, पढऩे में होशियार भी है। परिवार में सब उसे प्यार भी करते हैं। फिर ऐसा क्या हुआ कि वह ट्यूशन पढऩे जाने के बहाने सीधे गौर

भिण्ड वह पॉलिटेक्निक छात्रा है, पढऩे में होशियार भी है। परिवार में सब उसे प्यार भी करते हैं। फिर ऐसा क्या हुआ कि वह ट्यूशन पढऩे जाने के बहाने सीधे गौरी सरोवर में कूद गई। यदि उसका रिश्तेदार उसके साथ न होता तो 20 वर्षीय युवती पानी के आगोश में समा जाती। ऐसा ही कुछ हुआ शनिवार को भिण्ड शहर में। शनिवार की शाम करीब 5 बजे ट््यूशन के लिए घर से निकली पॉलिटेक्निक की 20 वर्षीय छात्रा ने गौरी सरोवर में छलांग लगाकर खुदकुशी का प्रयास किया। एनवक्त पर उसके ही बहनोई के भाई ने कूदते हुए देख लिया जिस पर उक्त युवक ने पानी में कूदकर युवती की जान बचा ली।

पुलिस के मुताबिक सुरभि शाक्य पुत्री इंदल शाक्य निवासी पुरानी बस्ती भिण्ड पॉलिटेक्निक की छात्रा है। शाम के वक्त वह घर से शहर के हनुमान बजरिया इलाके में स्थित ट्यूशन प्वॉइंट पर जाने के लिए निकली थी। ट्यूशन पर पहुंचने के बजाए वह गौरी ताल पर पहुंची जहां उसने देखते ही देखते गहरे पानी में छलांग लगा दी। प्रत्यक्षदर्शी लोगों की मानें तो सुरभि के साथ उसका रिश्तेदार अनुज शाक्य भी था जिसने सुरभि के पानी में कूदने के कुछ पलों बाद उसे बचाने के लिए खुद भी छलांग लगा दी और उसे पानी से बाहर निकाल लाया।

पानी में गोते लग जाने से सुरभि की हालत बिगड़ गई जिससे उसे जिला अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया है। युवती ने आत्महत्या का प्रयास क्यों किया और वह रिश्तेदार अनुज शाक्य जो युवती के बहनोई का छोटा भाई बताया जा रहा है वह उसके साथ क्या कर रहा था इस स्पष्ट नहीं हो पाया है।

 


बाइकों की भिड़ंत में दो की मौत

नाबालिग चला रहा था बाइक और दूसरा विक्रयकर विभाग में था बाबू

भिण्ड. देहात थाना क्षेत्र के एनएच 92 पर शिवहरे पेट्रोलपंप के पास दो मोटरसाइकिलों में हुई आमने-सामने की भिड़ंत में एक 17 वर्षीय किशोर व दूसरे 38 वर्षीय विक्रयकर विभाग मुरैना में पदस्थ क्लर्क की मौत हो गई। हादसा शनिवार शाम 7 बजे का है।

पुलिस के अनुसार ऋषभ उपाध्याय पुत्र नाथूराम उपाध्याय निवासी एंतहार भिण्ड से बाइक पर सवार होकर अपने गृहगांव जा रहा था। उधर विक्रयकर विभाग मुरैना में क्लर्क के रूप में पदस्थ दिलीप सक्सेना पुत्र महेशचंद्र सक्सेना निवासी सुभाष नगर हाल पश्चिमपुरी आगरा यूपी पोरसा में अपने ही विभाग के किसी कर्मचारी के घर पर आयोजित मृत्युभोज में शामिल होकर लौट रहा था। बताया गया है कि शिवहरे पेट्रोलपंप के पास दोनों की मोटरसाइकिलों में भिड़ंत हो गई। टक्कर इतनी तेज थी कि दोनों ही बाइक सवारों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

तो नहीं होता हादसा

शनिवार शाम नेशनल हाईवे पर हुई दुर्घटना में ऋषभ उपाध्याय बिना हेलमेट के ही सफर कर रहा था। उधर विक्रयकर विभाग के बाबू ने हेलमेट को बाइक के हैंडल पर लगे साइड ग्लास में टांग रखा था। बताया गया है कि दोनों ही बाइक सवारों की मौत सिर में चोट आने से हुई है। यदि दोनों हेलमेट लगाए होते तो शायद उनकी जान बच सकती थी।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned