दिन में सूर्यदेव ने बरसाई आग, शाम को आंधी के साथ बारिश

दोपहर 2.30 बजे 46.3 डिग्री तक पहुंचा तापमान

By: Rajeev Goswami

Published: 29 May 2020, 11:18 PM IST

भिण्ड. नौतपा के चौथे दिन कुपित सूर्यदेव ने आसमान से आग वर्षाकर दोहपर के समय कुदरती लॉकडाउन के जैसे हालात पैदा कर दिए। शहर की प्रमुख सडक़ों और बाजारों में दिनभर सन्नाटा पसरा रहा। भीषण गर्मी में घरों को लौट रहे प्रवासी मजदूरों का भी बुरा हाल रहा। स्क्रीनिंग के लिए बस स्टैंड पर लगी लंबी लाइन ने मजदूर और उनके साथ चल रहे मासूम ब"ाों को बैचेन कर दिया। गुरुवार को दोपहर 2.30 बजे 46.3 डिग्री तक तापमान पहुंच जाने से आज का दिन इस साल का सबसे गर्म दिन रहा। न्यूनतम तापमान भी 28 डिग्री रिकॉर्ड किया गया। मौसम के जानकारों ने गर्मी का और रौद्र रूप धारण करने की शंका जाहिर कर डरा दिया है।

पिछले तीन दिनों से लगातार बढ़ते तापमान के साथ उमस भरी गर्मी से लोग परेशान रहे। बुधवार की तरह गुरुवार को तापमान आंखे तरेरता नजर आया। अब दिन के साथ रात में हवा की गति कमजोर होने से उमस की वजह से रात में चैन से लोग सो भी नहीं पा रहे हैं। आलम यह रहा कि दोपहर में शहर की सडक़ों पर सन्नाटा पसरा रहा। गुरुवार को भी सुबह से तीखी धूप के साथ उमस ने लोगों का पसीना छुड़ा दिया। शहर में दिन में कई बार बिजली की लुकाछिपी होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। मौसम के तीखे तेवरों के चलते हीटस्ट्रोक का खतरा भी मंडराने लगा है।

गुरुवार को शाम के समय आसमान में बादल छा गए, रिमझिम बरसात भी हुई, लेकिन गर्मी के तेवर ढीले नहीं पड़े।

नौतपा में पड़ रही भीषण गर्मी में आमजन के साथ पशु-पक्षी भी व्याकुल नजर आ रहे हैं। इंसान तो कोई न कोई जतन करके गर्मी से राहत पाने का प्रबंध कर लेता है लेकिन शहर में बेजुबान मवेशी गर्मी में पानी और छांव की खोज में इधर उधर भटकते नजर आ रहे हैं।


आंधी से परा में गिरा मकान, दो साल के ब‘चे की दबकर मौत, तीन घायल

गुरुवार शाम को आई आंधी अटेर थाना क्षेत्र के परा गांव के एक परिवार में कहर बनकर टूटी। पक्के मकान की छत अचानक भराभरा कर गिर पड़ी, जिसमें दो साल के ब‘चे की दबकर मौत हो गई तथा तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। मिली जानकारी के अनुसार शाम को अचानक आई आंधी में परा गांव में निवासरत विनोद शर्मा का मकान भराभरा कर गिर पड़ा, जिसमें दो वर्षीय बालक ओम की दबकर मौत हो गई तथा प्रियंका पुत्री विनोद, गोपाल पुत्र सुशील, बिट्टु पुत्र सुशील एवं मोहन पुत्र सुशील घायल हो गए, जिन्हें परिवारीजनों द्वारा जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

Rajeev Goswami
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned