बिल से निजात पाने प्रशासन ने अपनाया नया तरीका

भिण्ड. पावरकट से बचने और बिजली का बिल कम करने के लिए कलेक्टे्रट भवन को सोलर एनर्जी से रोशन करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। दो दर्जन से अधिक सोलर प्ले

By: shyamendra parihar

Published: 10 Nov 2017, 05:10 PM IST

भिण्ड. पावरकट से बचने और बिजली का बिल कम करने के लिए कलेक्टे्रट भवन को सोलर एनर्जी से रोशन करने की तैयारी पूरी कर ली गई है। दो दर्जन से अधिक सोलर प्लेट और बेट्रियां आ चुकी है। सोमवार से मप्र उर्जा विकास निगम की ओर से तीसरी मंजिल पर पैनल्स लगाने का काम शुरू दिया जाएगा।परिसर के दो दर्जन से अधिक शासकीय कार्यालयों को सस्ती बिजली उपलब्ध कराई जाएगी।

कलेक्टर के प्रस्ताव पर मप्र उर्जा विकास निगम ने सोलर उर्जा प्लांट लगाने की योजना तैयार की है। कलेक्टे्रट भवन की तीसरी मंजिल पर 30 किलोवाट का प्लांट लगाया जा रहा है। इस प्लांट से 25 किलोवाट विद्युत की आपूर्तिहोगी जो पूरे भवन के लिए पर्याप्त मानी जा रही है।प्लांट लगाने पर 22 से 25 लाख का खर्चा आ रहा है।इस पर केंद्रीय सरकार की ओर से 10 से 20 प्रतिशत तक अनुदान दिया जा रहा है। सोलर प्लंाट लगने पॉवर कट के दौरान होने वाली समस्या से मुक्ति मिलेगी। दिन के समय धूप रहने से किसी प्रकार की समस्या नहीं आएगी। पैनल के साथ बेट्री लगाए जाने से रात के समय भी 8 से 10 घंटे तक पॉवर सप्लाईसंभव होगी।करीब पंाच साल तक किसी प्रकार का मेंटीनेंश भी नहीं करना होगा। अभी सिर्फ कलेक्टे्रट भवन पर ही लगाने का प्र्रस्ताव है। इसके बाद जिला पंचायत कार्यालय पर सोलर पैनल लगाने की योजना है।

कलेक्ट्रेट भवन पर प्रति माह खर्चहोती है एक लाख की बिजली

क लेक्टे्रट भवन में राज्य सरकार के दो दर्र्जन से अधिक कार्यालय संचालित है। करीब १५ हजार यूनिट बिजली की खपत प्रतिमाह होती है। मप्र मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी की ओर से 1 से 1.25 लाख के बिल प्रतिमाह जारी किए जाते हंै। सोलर पैनल लगने से सरकार को प्रतिमाह लाखों रुपये का फायदा होगा। बची हुई बिजली का उपयोग ग्रामीण क्षेत्र में किया जा सकेंगा।

यहां भी लग सकतेंं हैं सोलर पैनल : अधिकारियों की माने तो निकट भविष्य में जिला अस्पताल, जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय, नपा कार्यालय, कार्यपालन यंत्री कार्यालय लोनिवि, पीएचई, सिंचाई विभाग, उपसंचालक पशु चिकित्सा सेवाएं, जिला परिवहन कार्यालय, वनमंडलाधिकारी कार्यालय के अलावा बरिष्ठ अधिकारियो के आवासों में भी सोलर पैनल्स लगाकर बिजली की बचत कर सक ते हंै।

-------------------------------
कलेक्ट्रेट परिसर में सोलर प्लांट लगाने के सभी उपकरण आ गए हैं। सोमवार से काम शुरू हो जाएगा। 30 किलोवाट का प्लांट लगाए जाने की योजना है। अन्य शासकीय कार्यालयों में भी सोलर प्लंाट लगाए जाने की योजना पर काम चल रहा है।सौर्यउर्जा बिजली से काफी सस्ती है।

-एसके बादल जिला अक्षय उर्जाअधिकारी भिण्ड

Show More
shyamendra parihar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned