दुखद : रातभर फैक्ट्री में काम कर बाइक से घर जा रहे थे तीन भाई, रास्ते में खड़ी थी मौत

हादसे में बुझ गया घर का इकलौता चिराग, ग्रामीणों ने छह घंटे तक किया चक्काजाम

By: हुसैन अली

Updated: 09 Aug 2020, 10:28 PM IST

गोहद. रात की पाली में मालनपुर स्थित बिस्किट फैक्ट्री प्रिया गोल्ड में रातभर काम करने के बाद अलसुबह बाइक पर घर लौट रहे तीन युवकों की ट्रक की टक्कर से मौत हो गई। हादसे के बाद ग्रामीणों ने चक्काजाम कर दिया। दोनों ओर से करीब 10 से 12 किमी लंबा जाम हो गया था। हादसा गोहद चौराहा थाना क्षेत्र के सर्वा के पास हुआ।

जानकारी के अनुसार 19 वर्षीय शैलेंद्र सिंह जाटव पुत्र मायाराम जाटव, 19 वर्षीय रीतेश पुत्र जसवंत जाटव एवं 20 वर्षीय सुल्तान सिंह पुत्र भरोसी जाटव निवासी खेरियागोहद बाइक पर सवार होकर मालनपुर स्थित प्रिया गोल्ड फैक्ट्री से अलसुबह 6 बजे ड्यूटी कर लौट रहे थे तभी नेशनल हाईवे 92 पर ग्राम सर्वा के पास ट्रक क्रमांक एमपी 07 एचबी 4539 के चालक ने उनकी बाइक को टक्कर मार दी। टक्कर इतनी तेज थी कि तीनों ही युवकों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

लॉकडाउन खुलने के बाद ही शुरू किया था फैक्ट्री में काम

शैलेंद्र, रितेश एवं सुल्तान बालिग होने के बाद अपने परिवार का सहारा बनने के लिए पिछले डेढ़ वर्ष से काम तलाश रहे थे। लॉकडाउन खुलने के बाद मालनपुर की फैक्ट्री में उन्हें नौकरी मिल गई थी। तीनों ही युवक करीब दो-दो माह की पगार भी अपने परिजनों को दे चुके थे। सुल्तान जाटव एवं रितेश जाटव दो-दो भाई हैं जबकि शैलेंद्र अपने माता-पिता का इकलौता ही आसरा था। हालांकि रितेश व सुल्तान के भाई भी छोटे हैं जो फिलहाल परिवार की आजीविका चलाने में समर्थ नहीं हैं।

छह घंटे तक रहा जाम, यात्री और एंबुलेंस वाहन भी फंसे रहे

सडक़ हादसे में हुई एक साथ तीन युवकों की मौत से गुस्सााए ग्रामीणों ने चक्काजाम कर दिया। सुबह करीब ८ बजे से शुरू हुआ जाम दोपहर दो बजे प्रशासनिक अधिकारियों की समझाइश के बाद खोला गया। यहां बता दें कि इस दौरान दोनों ओर से करीब 12 किलोमीटर लंबा जाम हो गया था। इस बीच यात्रियों के अलावा एंबुलेंस भी फंसी नजर आई। हालांकि बाद में एंबुलेंस वाहनों को पुलिस की मदद से निकलवा दिया गया।

परिजनों को 4-4 लाख की सहायता

कलेक्टर वीरेंद्र नवल सिंह रावत एवं एसपी मनोज कुमार सिंह ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को जाम खोलने की समझाइश देने के अलावा शासन की ओर से संबल योजना के तहत प्रत्येक मृतक के वारिस को चार-चार लाख दिलाने का आश्वासन दिया। रेडक्रॉस सोसायटी की ओर से तीनों ही पीडि़त परिवारों को ५-५ हजार अंत्येष्टि के लिए प्रदान किए गए।

ट्रक चालक के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। मृतक के परिवार को शासन स्तर पर आर्थिक सहायता दिलाए जाने की प्रक्रिया भी शुरू की गई है।
मनोज कुमार सिंह, एसपी भिण्ड

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned