नगर पालिका की मनमानी से परेशान युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखा- किसी ने मदद नहीं की

प्रशासन की मनमानी से परेशान युवक ने की आत्महत्या, सुसाइड नोट में लिखी आत्महत्या की वजह...।

By: Faiz

Published: 20 Sep 2021, 06:48 PM IST

भिंड. मध्य प्रदेश के भिंड जिले में नगर पालिका की मनमानी से परेशान होकर युवक द्वारा आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। इस बात का खुलासा हुआ मृतक के पास से मिले सुसाइड नोट में, जिसमें उसने अधिकारियों की लापवाही का जिक्र किया है। इसके अलावा, मृतक के परिजन ने आरोप लगाया कि, आत्महत्या करने से पहले युवक कई दिनों से प्रधानमंत्री आवास को लेकर नगरपालिका और अन्य अधिकारियों के चक्कर लगा रहा था, लकिन उसकी किसी ने नहीं सुनी। मजबूर होकर उसने ये कदम उठाया है।


बता दें कि, मामला जिले के आलमपुर का है। यहां रविन्द्र कौरव उर्फ टिंकु पिछले कई दिनों से पीएम आवास योजना के लिये नगरपालिका और अन्य अधिकारियों के चक्कर काट रहा था, पर उन्हें किसी तरह की सहायता नहीं मिली। सुसाइड नोट के अनुसार, जब भी युवक कार्यालय जाता, तो उसे वहां से निकाल दिया जाता। इसकी शिकायत टिंकु द्वारा आला इधिकारियों से भी की गई, बावजूद इसके किसी अधिकारी ने भी उसकी विधा नहीं सुनी। टिंकू ने इस संबंध में सीएम हेल्पलाइन (181) पर भी शिकायत दर्ज कराई थी, लेकिन वहां भी सुनवाई नहीं हुई। जब पीड़ित को कही से कोई मदद मिलती नजर नहीं आई तो उसने अपनी जमीन बेच कर मकान बनाना चाहा पर ऐसा भी नहीं हो सका।

 

पढ़ें ये खास खबर- कलेक्टर-कमिश्नर कॉन्फ्रेंस में CM शिवराज बोले- PM आवास में पैसे खाने वाले अधिकारियों को छोड़ूंगा नहीं


पुलिस जांच में मिला सुसाइड नोट

News

फिलहाल, घटना की जानकारी लगते ही पुलिस मौके पर पहुंची, पुलिस जांच में मृतक के पास से एक सुसाइड भी नोट मिला है। पुलिस द्वारा बताया गया कि, चिट्ठी में हवाला दिय़ा कि, युवक पिछले कई दिनों से परेशान था। उसके उपर एससी एसटी का केस भी दर्ज करा दिया गया था। मोहल्ले के लोगों ने उसके साथ मारपीट भी की। सुसाइड नोट में नगर पालिका द्वारा मदद न मिलने से परेशान होकर आत्महत्या का फैसला लेने की बात कही गई है।

 

पढ़ें ये खास खबर- पंजाब के नये CM पर गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा का हमला, कहा- इनसे आधी आबादी को खतरा


मृतक के परिवार का अब कोई सहारा नहीं

बता दें कि, टिंकू अपने घर का अकेला करता धर्ता था। मृतक के घर में उसकी पत्नी, मां और 13 साल की एक बच्ची हैं, जिनका अब कोई सहारा नहीं बचा। वहीं, दूसरी तरफ परिजन ने शोकाकुल परिवार को मदद की मांग की हैं। साथ ही, दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग भी की है।

 

उमा भारती का विवादित बयान, बोलीं- हमारी चप्पल उठाती है ब्यूरोक्रेसी - देखें Video

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned