गढ़ा हुआ धन खोदने के लिए गए तीन दोस्तों में से दो की मौत, एक दूर पड़ा मिला बेहोश

मौ थाना क्षेत्र के मदनपुरा के पास मिले दो शव जबकि एक करवास के पास पड़ा अचेत पड़ा था

By: हुसैन अली

Updated: 13 Sep 2020, 07:10 PM IST

गोहद. मौ थाना क्षेत्र के मदनपुरा के पास दो लोगों के शव पड़े मिले जबकि तीसरा व्यक्ति करवास के पास अचेत अवस्था में मिला। पुलिस ने दोनों दोस्तों की मौत पर जहरखुरानी से होने की आशंका जाहिर की है। अचेत अवस्था में मिले तीसरे व्यक्ति का उपचार गोहद के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में किया जा रहा है।

पुलिस के अनुसार ४५ वर्षीय उमेश कुशवाह पुत्र अमर सिंह कुशवाह निवासी बरथरा रोड गोहद अपने दोस्त होतम सिंह पुत्र अमर सिंह कुशवाह निवासी गंगादास का पुरा गोहद तथा लक्ष्मण सिंह पुत्र अमर सिंह कुशवाह निवासी गंगादास का पुरा गोहद के साथ मौ थाना क्षेत्र के मदनपुरा व गुहसीर के बीच में एक खेत में गढ़ा हुआ धन खोदने के लिए गए थे। वहां पहुंचने के उपरांत खेत में खुदाई भी की गई। बाद में उमेश कुशवाह व होतम सिंह कुशवाह की संदिग्ध स्थिति में मौत हो गई। दोनों के शव घटनास्थल से दूर मदनपुरा गांव के पास 12 सितंबर की शाम करीब 5 बजे पड़े देखे गए। वहीं लक्ष्मण सिंह कुशवाह अचेत अवस्था में करवास के पास पड़ा देखा गया।

धन के लिए गए थे आधा दर्जन लोग !

बताया जा रहा है कि मृतक उमेश व होतम सहित कुल आधा दर्जन लोग गढ़ा हुआ धन खोदने के लिए गए हुए थे। घटनास्थल पर पहुंचकर पुलिस ने प्रारंभिक जांच में पाया है कि दोनों ही लोगों की मौत जहरखुरानी से हुई है। ऐसे में उनकी पीएम रिपोर्ट आने के बाद ही मौत के कारण का स्पष्ट खुलासा हो पाएगा।

धन हड़पने के लिए हत्या का कयास

विदित हो कि खेत में की गई खुदाई से यह प्रतीत हो रहा है कि खोदने के दौरान जो भी खुदाई कर रहे लोगों को मिला उसके बंटवारे के दौरान जिनकी नीयत खराब हुई उन्हीं लोगों द्वारा उमेश कुशवाह, होतम कुशवाह एवं लक्ष्मण सिंह को जहर दिया गया। हालांकि लक्ष्मण सिंह के होश में आने के बाद घटना की असल सच्चाई सामने आ सकेगी। बहरहाल लक्ष्मण सिंह को गोहद सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है।

मोबाइल सीडीआर के आधार पर शेष लोग होंगे नामजद

विदित हो कि मृतक होतम व उमेश सिंह के साथ लक्ष्मण के अलावा बाकी कितने और कौन लोग थे इसका खुलासा मृतकों के मोबाइल की सीडीआर तथा लोकेशन के आधार पर स्पष्ट होंगे। पुलिस ने जहर देकर मारने वाले आरोपियों की पतारसी शुरू कर दी है।

दो लोगों के शव मिले हैं जबकि तीसरा अचेत अवस्था में मिला है। प्रारंभिक तौर पर प्रतीत हो रहा है कि मृतकों को जहर दिया गया है। सही घटनाक्रम क्या था यह लक्ष्मण के होश में आने के बाद स्पष्ट होगा।
परमाल सिह मेहरा, एसडीओपी गोहद

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned