ट्यूबवेलों से पानी का परिवहन करने को मजबूर हैं ग्रामीण

प्रशासन की अनदेखी के चलते अभी भी कच्चे मकानों में रह रहे हैं कई परिवार

मेहगांव. मेहगांव की ग्राम पंचायत मौरोली में मौरोली एवं खेरिया बाग गांव आते हैं। गांव की आबादी 2 हजार के करीब है। भ्रमण के दौरान ग्रामीणों ने बताया कि खेरिया बाग में पेयजल को लेकर बड़ा संकट बना हुआ है। यहां तीन हैंडपंप लगे हुए हैं, लेकिन तीनों के तीनों खराब हो चुके हैं। जिसके बाद उन्हें ठीक कराने के लिए कुछ नहीं किया गया है, जिसके चलते ग्रामीमों को जलापूर्ति के लिए गांव के बाहर ट्यूबवेलों से पानी का परिवहन करना पड़ रहा है। वहीं गांव के कई परिवार ऐसे हैं। जिनकी महिलाओं व बच्चों को पैदल ही पानी भरने के लिए जाना पड़ता है।


ग्रामीणों ने गांव के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि गांव में पानी के अलावा सबसे प्रमुख समस्या है कि गांव के कई गरीब परिवारों को अब तक किसी भी शासकीय योजना का लाभ नहीं मिल पाया है। राम सनेही प्रजापति, हरिसिंह प्रजापति, रवी वाल्मीकि, बल्लू वाल्मीकि, रामनरेश श्रीवास सहित कई ग्रामीण ऐसे हैं। जिनके पास रहने के लिए पक्का मकान तक नहीं है। गांव के ही रवि वाल्मीकि जो मजदूरी का काम करते हैं। उनके पास न तो गरीबी रेखा का राशन कार्ड है और न ही मजदूरी कार्ड। इससे वह आज भी कच्चे मकान में रहने को मजबूर है। इस परिवार को अब तक प्रधानमंत्री आवास जैसी योजना का लाभ नहीं मिल सका है। इसी तरह के और भी परिवार हैं। जो प्रशासन की अनदेखी के चलते नर्क से जीवन जीन को मजबूर हो रहे है। मौरोली गांव में तीन बिद्युत ट्रांसफ ार्मर जबकि खेरिया बाग में एक ट्रांसफ ार्मर रखा हुआ है। जिसके चलते विद्युत आपूर्ति की समस्या तो काफ ी हद तक ठीक है। लेकिन गांव की आंगनवाडिय़ों का संचालन ठीक से नहीं किया जा रहा है। वहीं विद्यालय को लेकर भी लोगों की शिकायतें मिली।

मुझे अभी तक शासन की किसी भी योजन का लाभ नही मिला है। कच्चे मकान में रहकर गरीबी में जीवन गुजार रहे हैं। एक वक्त भोजन मिलना भी मुश्किल से हो पाता है। सुबह खाने के बाद शाम को परिवार के लिए खाने की चिंता रहती है।
रवि वाल्मीकि, निवासी खेरिया बाग

ग्राम पंचायत मौरोली के खेरिया बाग में लगभग आधा दर्जन ऐसे परिवार है जिनके सिर पर पक्की छत नहीं है रवी वाल्मीकि की स्थिति बहुत ही दयनीय है।
महेंद्र पुरोहित, स्थानीय निवासी

ग्राम पंचायत में जिन लोगों के पास कच्चे मकान हैं। उनका नाम प्रधानमंत्री आवास योजना की सूची में भेजा गया पंचायत की प्रक्रिया पूरी की जा चुकी है। जल्द ही आवास मुहैया कराए जाएंगे।
उर्मिला राजेश शर्मा, सरपंच ग्राम पंचायत मौरोली

अभी मेहगांव विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव है। प्रशासन चुनाव में व्यस्त है। मतदान होने के बाद ऐसे परिवारों को चिह्नित कर शासन की योजनाओं का लाभ अवश्य दिलाएंगे।
ब्रजबिहारी लाल श्रीवास्तव, एसडीएम मेहगांव

Show More
महेंद्र राजोरे Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned