जैसा तुम समझ रहे हो वैसा कुछ नहीं है, लिखकर फांसी पर झूल गई विवाहिता

जैसा तुम समझ रहे हो वैसा कुछ नहीं है, लिखकर फांसी पर झूल गई विवाहिता

By: Gaurav Sen

Published: 10 Mar 2019, 06:08 PM IST

भिण्ड। जैसा तुम समझ रहे हो, वैसा कुछ भी नहीं है, मैने डर के कारण तुम्हें कुछ नहीं बताया, मुझे माफ करना। सोसाइड नोट में यह इबारत लिखकर शनिवार को एक विवाहिता ने फांसी के फंदे पर झूल कर अपनी जीवनलीला समाप्त कर ली। पुलिस ने मौका मुआयना करने के बाद मर्ग कायम कर लिया है।

जानकारी के अनुसार माधौगंज हाट निवासी हिंमाशु कुशवाह की शादी करीब दो साल पहले डोली कुशवाह के साथ हुई थी। शुक्रवार शाम हिंमांशु अपने एक परिचित की बारात में ग्वालियर चला गया। रात को देर से लौटा और खेतों पर सो गया। इधर डोली कुशवाह ने सुबह उठकर नाश्ता किया और मकान की ऊपरी मंजिल पर बैडरूम में कुंदे पर फांसी के फंदे पर झूल गई। सुबह करीब 8.30 हिंमाशु के रिश्तेदार ने मोबाइल से काल कर डोली की मौत की जानकारी दी।

सिटी कोतवाली पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव फांसी के फंदे से नीचे उतारा।जांच पड़ताल के दौरान बैड पर गद्दे के नीचे से पुलिस ने एक दो लाइन का सोसाइड नोट बरामद किया है। सोसाइड नोट से पुलिस को शक है कि पति और पत्नी के बीच किसी बात को लेकर शक की दीवार खड़ी हुई थी जो डोली की मौत का कारण बनी। डोली अपने पीछे एक डेढ़ साल का बच्चा भी छोड़ गई है। घटना स्थल का एफएसएल अधिकारी अजय सोनी ने भी बाराकी से निरीक्षण किया है। नायब तहसीलदार आनंद यादव भी मौके पर पहुंच गए थे।

मृतका के मोबाइल से मिल सकता है कोई सच
मृतका द्वारा मोबाइल का उपयोग किया जाता था। लेकिन मौत के बाद कमरें से सोसाइड नोट तो बरामद हुआ है लेकिन मोबाइल गायब है। मोबाइल के संबंध में पुलिस ने पति से भी पूछताछ की है। लेकिन सफलता नही मिली। पुलिस को शक हैकि महिला के मोबाइल में कोई राज हो सकता है जो आत्म हत्या के कारणों का खुलासा कर सकता है।

Gaurav Sen
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned