script1.43 lakh people who took technical training got jobs 10101 | तकनीकी प्रशिक्षण से खुली रोजगार की राह, 1.43 लाख लोग पैरों पर खड़े हुए | Patrika News

तकनीकी प्रशिक्षण से खुली रोजगार की राह, 1.43 लाख लोग पैरों पर खड़े हुए

52 जिलों में 2345 केंद्रों से 3 साल में प्रदेश में 4,50,376 लोगों को दी रोजगार की ट्रेनिंग..

भोपाल

Published: December 24, 2021 10:25:45 pm

भोपाल. तकनीकी प्रशिक्षण के बाद प्रदेश के हजारों लोग अपने पैरों पर खड़े हो गए। प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना (पीएमकेवीवाई) के तहत तीन साल में प्रशिक्षण पाने वाले करीब 31 फीसदी लोगों को प्रदेश के ही विभिन्न शहरों में रोजगार मिल गया। 2018-2021 के बीच 4,50,376 लोगों को प्रशिक्षण दिया, जिनमें से 1,43,140 को काम मिल चुका है। प्रदेश के 52 जिलों में 2345 केंद्रों से इस ट्रेनिंग पर करीब 24 करोड़ रुपए खर्च हुआ। कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने संसद में यह जानकारी दी। योजना के तहत दो तरह की ट्रेनिंग दी जाती है पहली अल्प अवधि प्रशिक्षण (एसटीटी) और दूसरा पूर्व शिक्षण मान्यता (आरपीएल)। आरपीएल को रोजगार के अवसर देने का प्रावधान नहीं है।

rojgar.jpg


कितनों को मिला रोजगार
पुरुष - 2,67,867 लोगों ने लिया प्रशिक्षण, 74,250 लोगों को मिला रोजगार
महिलाएं- 1,82,502 ने लिया प्रशिक्षण, 68,888 को मिला रोजगार
कुल- 4,50,376 ने प्रशिक्षण लिया जिनमें से 1,43,140 को रोजगार मिला ।

यह भी पढ़ें

परीक्षा में पूछा सैफ-करीना के बेटे का नाम, मच गया बवाल

अगले चरण में आइए और आइओटी के कोर्स भी
एयर कंडीशनर, एलइडी लाइट, मोबाइल फोन हार्डवेयर और टीवी मरम्मत तकनीशियन के साथ सौर पैनल स्थापना, जूनियर सॉफ्टवेयर डेवलपर, ग्राफिक डिजाइनर, साउंड इंजीनियर, ऑप्टीकल फाइबर 37 तकनीकी पाठ्यक्रमों सहित 321 जॉब रोल्स में प्रशिक्षण दिया। कौशल 4.0 के लिए डिजिटल प्रौद्योगिकी, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस और आइओटी (इंटरनेट ऑफ थिंग्स ) जैसे अपडेटेड कोर्स भी तैयार किए हैं।

यह भी पढ़ें

स्कूल में भी महफूज नहीं बेटियां, दो दिनों में सामने आए दो कलयुगी टीचर

rojgar_3.jpgकेस एक ... धागा फैक्ट्री में मशीन ऑपरेटर बनी शीतल
बैतूल ग्राम सोनाघाटी निवासी शीतल पवार ने 2019 में सिलाई मशीन ऑपरेटर का 3 माह का प्रशिक्षण लिया। अब बुदनी स्थित ट्राइडेंट धागा फैक्ट्री में बीते एक साल से 11,500 रुपए प्रतिमाह पर मशीन ऑपरेटर के रूप में कार्य कर रही है। इस कोर्स के लिए आठवीं पास होना जरूरी है, शीतल 12वीं पास हैं।
यह भी पढ़ें

आरक्षक को महंगी पड़ी 'आशिकी', एसपी ने नौकरी से किया बर्खास्त

rojgar_2.jpg

केस दो .. फैक्ट्री में लैब असिस्टेंट बना उमाशंकर
होशंगाबाद जिले के सिवनीमालवा निवासी उमाशंकर कीर ने मेडीकल कोर्स में छह माह का प्रशिक्षण लिया। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद उमाशंकर बुदनी स्थिति वर्धमान फैक्ट्री में लैब सहायक काम कर रहे हैं। वर्तमान में उमाशंकर को 15 हजार रूपए वेतन मिल रहा है।
देखें वीडियो- बीच शहर में घूमता दिखा तेंदुआ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Corona Update in Delhi: दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेSSB कैंप में दर्दनाक हादसा, 3 जवानों की करंट लगने से मौत, 8 अन्य झुलसे3 कारण आखिर क्यों साउथ अफ्रीका के खिलाफ 2-1 से सीरीज हारा भारतUttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाHowrah Superfast- हावड़ा सुपरफास्ट से यात्रा करने वाले यात्रियों को परिवर्तित मार्ग से करना पड़ेगा सफर, इन स्टेशनों पर नहीं जाएगी ट्रेनपूर्व केंद्रीय मंत्री की भाजपा में वापसी की चर्चाएं, सोशल मीडिया पर फोटो से गरमाई सियासतTrain Reservation- अब रेल यात्रियों के पांच वर्ष से छोटे बच्चों के लिए भी होगी सीट रिजर्व, जानने के लिए पढ़े पूरी खबर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.