script1100 children will become RJ | बतौलेबाजों की बढ़ी डिमांड, स्कूलों में खुलेंगे रेडियो स्टेशन, 1100 बच्चे बनेंगे आरजे | Patrika News

बतौलेबाजों की बढ़ी डिमांड, स्कूलों में खुलेंगे रेडियो स्टेशन, 1100 बच्चे बनेंगे आरजे

रेडियो जॉकी बन चुके हैं 28 बच्चे

भोपाल

Updated: March 21, 2022 07:48:45 am

श्याम सिंह तोमर, भोपाल. स्कूलों में अब बतौलेबाज बच्चों की डिमांड बढ़ रही है। ऐसे बच्चों की इस प्रतिभा का उपयोग रेडियो जॉकी यानि आरजे बनाने के लिए किया जा रहा है। मध्यप्रदेश में पहली बार यह प्रयोग हो रहा है।

rj.png

मध्यप्रदेश में पहली बार शालेय शिक्षा विभाग स्कूल रेडियो स्टेशन, यू-ट्यूब चैनल और मैग्जीन शुरू करने जा रहा है। खास बात ये है कि तीनों माध्यमों के लिए प्रोग्राम बनाने और कंटेंट तैयार करने का काम सरकारी स्कूलों के विद्यार्थी खुद करेंगे। रेडियो जॉकी (आरजे) के लिए 52 जिलों से पहले चरण में 1100 से अधिक बच्चों का चयन किया गया है। इन्हें विशेषज्ञों से प्रशिक्षित करवाया जाएगा।

ये कवायद एजुकेशन फॉर ऑल (ईएफए) स्कूलों में हो रही है, जिसकी शुरुआत भोपाल के ईएफए सरोजनी नायडू हायर सेकण्डरी स्कूल से हो चुकी है। प्रशिक्षण के 5 चरण हैं। टैलेंट की पहचान, पहला प्रशिक्षण, प्रोफेशनल्स की निगरानी में गू्रमिंग शोकेस करना और 12वीं के बाद उन्हें अपना कॅरियर बनाने में दिशा देना है। सरोजनी नायडू स्कूल के बाद अगले चरण में बाकी जिलों के स्कूलों में भी इसी पैटर्न पर रेडियो चैनल चलाए जाएंगे। केंद्र सरकार की नीति के हिसाब से इन स्कूलों को 75 फीसदी राशि सब्सिडी के रूप में वापस हो जाएगी।

सरोजनी नायडू स्कूल जहां से पायलट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है, वहां की कक्षा 9वीं और 11वीं की 28 छात्राओं को रेडियो जॉकी का प्रशिक्षण दिया जा चुका है। अगले चरण में इन्हें देश के नामी एंकर, प्रजेंटर और जॉकी बारीकियां सिखाएंगे। ध्यान यह रखा गया है कि बच्चे जो भले पढ़ाई में ठीक ना हों, लेकिन बतौलेबाज हों, उन्हें सबसे पहले चुनना है। स्कूल मैग्जीन बनाने का काम दोहरे स्तर पर होगा। पाक्षिक एक पत्रिका हर स्कूल निकालेगा।

बच्चों के सर्वांगीण विकास वाला प्रयोग: शिक्षा मंत्री परमार
मध्यप्रदेश के स्कूल शिक्षा विभाग के मंत्री इंदर सिंह परमार बताते हैं कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति में यही सब नवाचार करने के लिए तो कहा गया है। इससे छात्रों का सर्वांगीण विकास होगा। मध्यप्रदेश ऐसा पहला राज्य होगा, जिसके स्कूलों के पास अपने-अपने कम्युनिटी रेडियो, यू-ट्यूब चैनल और पत्रिका होगी।

स्कूलों के नाम पर कम्युनिटी रेडियो का पंजीयन
राज्य ओपन बोर्ड के अंतर्गत चलने वाले ईएफए स्कूलों को नवाचार के लिए जाना जाता है। इसके लिए एक स्वयंसेवी संगठन एकस्ट्रा चाइल्डहुड की टीम को तकनीकी सपोर्ट के लिए साथ लिया गया है। उक्त एनजीओ ईएफए स्कूल के नाम पर कम्युनिटी रेडियो का पंजीयन करवा रहा है। बता दें, कम्युनिटी रेडियो और ऑनलाइन रेडियो के लिए 11 सेगमेंट में कार्यक्रम बनाए जा रहे। इनके नाम भी बच्चों की दुनिया के हिसाब से तय किए गए हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकामानसून ने अब तक नहीं दी दस्तक, हो सकती है देरखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलमहंगाई का असर! परिवहन मंत्रालय ने की थर्ड पार्टी बीमा दरों में बढ़ोतरी, नई दरें जारी'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'अजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठ
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.