मध्यप्रदेश में घुसकर गायब हो गए 1115 बाहरी

- कोरोना के संक्रमण का खतरा बढ़ा : क्वारंटाइन पीरियड में नहीं रहे

By: anil chaudhary

Published: 04 Apr 2020, 05:04 AM IST

भोपाल. प्रदेश में कोरोना वायरस अब भयावहता ओढऩे लगा है। प्रदेश में बाहर से आए 1115 यात्री 14 दिन के क्वारंटाइन के बिना गायब हो गए हैं। वहीं, जमात से लौटे 40 लोग भी गायब हैं। इनके संक्रमित होने की आशंका है, पर ट्रेस नहीं हो पा रहे। ये अब मध्यप्रदेश की सेहत के लिए बड़ा खतरा बन गए हैं।
राज्य सरकार ने बाहर से आने वाले लोगों के लिए सीमा पर स्क्रीनिंग की व्यवस्था की है। सरकार बाहर से आने वालों का डाटा बैंक अब तैयार करने लगी है। इसमें बाहर से आए 15 हजार 450 यात्रियों को निगरानी के लिए चिन्हित किया गया। इनका मेडिकल रिकॉर्ड तैयार किया गया और इनको निगरानी में रखना तय किया गया। राज्य सरकार के हेल्थ बुलेटिन के मुताबिक इस बीच इनमें से 1115 यात्रियों का पता ही नहीं चल पाया है। इसमें दो अप्रेल को 530 यात्री इस निगरानी तंत्र से बाहर हैं। इस दिन 2689 लोगों को चिन्हित किया गया, लेकिन 530 यात्रियों का पता नहीं चला। इनको टे्रेस करने के सारे प्रयास फेल हो गए हैं। ऐसे में ये लोग बड़ा खतरा साबित हो सकते हैं।
- कुछ बाहर गए, कुछ मध्यप्रदेश में
गायब यात्रियों में से कुछ के मध्यप्रदेश से बाहर जाने की आशंका है। जो मध्यप्रदेश में हैं, उनको ट्रेस करने के लिए सरकार प्रयास कर रही है। अब हर दिन निगरानी से बाहर होने वाले यात्रियों की संख्या बढ़ रही है। अभी तक 6590 यात्री क्वारंटाइन पीरियड पूरा कर चुके हैं। लेकिन, जो गायब यात्री हैं उन्हें लेकर संशय की स्थिति है।

- निगरानी से बाहर होने के मायने व खतरे
सरकार उन यात्रियों को निगरानी से बाहर मान रही है, जो क्वारंटाइन पीरियड के लिए चिन्हित किए गए, लेकिन ये पहले ही चले गए और सम्पर्क से बाहर हो गए। राज्य की सीमा पर निगरानी तंत्र फेल होने का बड़ा कारण यह भी है। इन गायब यात्रियों ने यदि खुद को सेल्फ आइसोलेटेड कर रखा है, तब तो संक्रमण का खतरा नहीं है, लेकिन यदि ये यात्री घूम रहे हैं तो बड़ा खतरा हो सकता है।
- स्वास्थ्य विभाग की टीमें फेल
इन यात्रियों की निगरानी और क्वारंटाइन पीरियड पूरा कराने में स्वास्थ्य महकमे सहित अन्य अफसरों की टीमें पूरी तरह फेल साबित हुई है। स्वास्थ्य विभाग ने इन गायब होते यात्रियों पर अभी पूरी तरह ध्यान ही नहीं दिया है।
- जमात के 40 लोग भी संदिग्ध
सरकार को तबलीगी जमात में होकर आए 40 लोग भी नहीं मिल रहे हैं। इनके भी संक्रमित होने की आशंका है। सरकार ने इन्हें खोजने के प्रयास शुरू किए हैं। फिलहाल इनके न मिलने से भी खतरा बड़ा है।
- यह है स्थिति
15450 यात्रियों को निगरानी के लिए चिन्हित किया।
1115 निगरानी से बाहर। इनका पता नहीं चल रहा।
6590 यात्री क्वारंटाइन का पीरियड पूरा कर चुके हैं
530 यात्री दो अप्रेल को निगरानी रिकॉर्ड से बाहर
(स्रोत: स्टेट कोराना हेल्थ बुलेटिन।)

 

Corona virus Kamal Nath
anil chaudhary Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned