दर्द से तड़पती मासूम ने टूटे फूटे शब्दों में मां को बताई ये बात...

12वीं के छात्र ने किया मासूम से ज्यादती का प्रयास, दर्द से बिलखती मासूम बिना कुछ बताए नानी की गोद में सो गई।

By: दीपेश तिवारी

Published: 11 Sep 2017, 10:36 AM IST

भोपाल। चार साल की एक मासूम के साथ 17 साल के किशोर ने ज्यादती का प्रयास किया। किशोर 12वीं का छात्र है। उसने खेलते समय मासूम बच्ची के प्राइवेट पार्ट से छेड़खानी की।

मां-पिता घर पर नहीं होने के चलते मासूम अ-सहनीय दर्द से बिलखती हुई नानी के घर जा पहुंची और दर्द से बिलखती रही। नानी ने चुप कराने का प्रयास भी किया, कारण पूछा। लेकिन वह दर्द के चलते बता नहीं सकी। आखिर में वह फफकते हुए सो गई। यह मामला दो दिन पहले अवधपुरी थाना क्षेत्र का है। शनिवार देर रात इस मामले में एफआईआर दर्ज की गई है।

बाहर खेल रही थी मासूम:
टीआई प्रज्ञा जोशी ने बताया कि निर्मल नगर में एक दपंती रहता है। उनकी चार साल की एक बेटी है। पत्नी एक निजी कंपनी में अधिकारी हैं। पति लेदर के कारोबारी हैं। शुक्रवार को वह दोनों घर से बाहर थे। रात करीब आठ बजे उनकी बेटी घर के बाहर खेल रही थी। खेलते समय कॉलोनी में रहने वाले एक 17 साल के किशोर ने ज्यादती का प्रयास किया। फिर उसके प्राइवेट पार्ट से छेड़खानी की। प्राइवेट पार्ट में हुई छेड़खानी के चलते वह अ-सहनीय दर्द से चीख पड़ी।

मां को बताया दर्द का राज:
चीखते हए वह नानी के घर पहुंची और उनकी गोद में बैठकर जोर-जोर से रोने लगी। नानी ने यह बात मासूम की मां को बताई। जब तक मासूम की मां घर पहुंची, वह सो गई। शनिवार देर शाम जब मां उसे घुमाने के लिए बाहर ले गई, तो वह गोद में लेने की जिद करने लगी। मां ने गोद में लेने का कारण पूछा, तो सहम गई। फिर प्राइवेट पार्ट की तरफ इशारा कर दर्द बताया। मां को अंदेशा हुआ और उसे लेकर सीधे घर पहुंची।

घर पर बैठकर उससे तसल्ली से पूछा, तो उसने कॉलोनी में रहने वाले 17 साल के किशोर का नाम बता दिया। मां ने यह बात पुलिस को बताई। देर रात पुलिस ने मां की शिकायत पर किशोर के खिलाफ प्रकरण दर्ज कर रविवार देर शाम बाल-अपचारी छात्र को गिरफ्तार कर बाल-सुधार गृह भेज दिया।

यहां वैन चालक ने महिला से किया दुष्कर्म :-
कोहेफिजा थाना स्थित विजय नगर में एक महिला सफाईकर्मी से दुष्कर्म करने का मामला सामने आया है। आरोपी स्कूल वैन चलाता है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।
पुलिस के अनुसार विजय नगर लालघाटी निवासी 30 वर्षीय शादीशुदा महिला एक निजी स्कूल में साफ-सफाई का काम करती है। कैलाश नगर, गांधी नगर निवासी छोटू उर्फ वैंकटेश उसी स्कूल की वैन चलाता है। महिला अक्सर वैंकटेश की वैन में ही स्कूल आती-जाती थी।

पुलिस ने बताया कि चार सितंबर को वैंकटेश बहला-फुसलाकर महिला को अपने घर ले गया और जान से मारने की धमकी देकर दुराचार किया। चालक ने चार दिन तक महिला को बंधक बना कर रखा।

इधर, स्वाइन फ्लू से शहर में 20वीं मौत:-
स्वास्थ्य विभाग की तमाम कवायदों के बावजूद स्वाइन फ्लू से होने वाली मौतों पर लगाम नहीं लग पा रही है। जहां हर दिन इसके मरीज सामने आ रहे हैं तो वहीं लगातार इससे मरीजों की मौत हो रही है। रविवार को भी स्वाइन के वायरस ने भोपाल में एक मरीज की जान लेली। स्वाइन फ्लू से मौत का शहर का यह 20वां मामला है।

सीएमएचओ डॉ. सुधीर जेसानी से मिली जानकारी के मुताबिक रविवार को निजी हॉस्पिटल में भर्ती 27 साल की महिला की मौत स्वाइन फ्लू से हो गई। महिला को तेज बुखार के चलते हॉस्पिटल में भर्ती किया गया था। सैंपल रिपोर्ट में महिला स्वाइन फ्लू पॉजीटिव आई थी। महिला की मौत मल्टी ऑर्गन फेलियर के चलते हुई है।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned