तेरह साल बाद एक घंटे के लिए ‘राज्यपाल’ बनीं महिला सब इंस्पेक्टर

महामहिम की शपथ के बाद पुलिस महकमे ने आनन-फानन में लिया फैसला...

By: Satendra bhadoria

Published: 26 Jan 2018, 09:54 AM IST

भोपाल. एसएएफ की 23वीं महिला वाहनी में पदस्थ महिला एसआई शैली थॉमस को बुधवार को पुलिस महकमे ने ‘राज्यपाल’ बना दिया, वो भी एक घंटे के लिए। महकमे के आला अफसरों के साथ मुखिया डीजीपी भी मौजूद रहे। एक घंटे के लिए बनी ‘राज्यपाल’ को परेड की सलामी दी गई। जी हां, चौकिए मत, महिला एसआई शैली थॉमस को बुधवार सुबह लालपरेड मैदान में आयोजित प्रदेशस्तरीय स्वतंत्रता दिवस समारोह की फुल ड्रेस रिहर्सल में राज्यपाल आनंदीबेन की डमी के रूप में बुलाया गया था।

असिस्टेंट प्लाटून कमांडेंट निभा रहे थे भूमिका
तेरह साल से गणतंत्र और स्वतंत्रता दिवस की फुल ड्रेस परेड तक सातवीं वाहिनी के असिस्टेंट प्लाटून कमांडेंट रामचंद्र कुशवाह को ही २६ जनवरी को राज्यपाल और मुख्यमंत्री की डमी के रूप में खड़ा किया जा रहा था। एकाएक सोमवार को प्रदेश की राज्यपाल की शपथ समारोह के बाद पुलिस विभाग ने राज्यपाल महिला होने पर डमी के लिए भी महिला किरदार बुलाने का निर्णय लिया।

 

अचानक हुआ चयन
महिला राज्यपाल के रूप में डमी कैंडीडेट का फाइनल रिहर्सल में सलामी दिलाने का निर्णय मंगलवार को लिया गया। पहले डिप्टी कमांडेंट मेनका गुरूंग का नाम चर्चा में आया, लेकिन परेड की सेकंड कमांडेंट होने पर उन्हें नहीं लिया जा सका। इसके बाद निरीक्षक कमला रावत को बुलाया गया, लेकिन ये यूनिफार्म पहने हुए मैदान पहुंच गईं। ऐसे में अधिकारियों के बीच सातवीं वाहिनी में अटैच 23वीं वाहिनी की एसआई शैली थॉमस पर सहमती बनी और शैली को बुलाकर डमी बनने के निर्देश दिएगए।

राज्यपाल से मिलती-जुलती सूरत है शैली की
एसएएफ की 23वीं वाहिनी में पदस्थ शैली थॉमस ने बताया कि वह एथलेटिक्स की कोच हैं। उन्होंने बैंगलूरु से दो साल का एनआईएस का कोर्स किया है। बैंकॉक में आयोजित वर्ष 2008 में मास्टर एशियार्ड में शैली थॉमस ने ट्रिपल जम्प स्पर्धा में गोल्ड मैडल जीता था।

राज्यपाल आनंदीबेन से सूरत मिलती-जुलती होने के कारण उनका चयन किया गया। मंगलवार रात अचानक फरमान मिला। जब शैली थॉमस बतौर राज्यपाल की भूमिका निभाने डमी के तौर पर परेड में पहुंची, तो कुछ पल के लिए असहज महसूस हुआ, लेकिन जब भूमिका निभानी ही थी, तो फिर राज्यापाल की भूमिका में चाल-ढाल से लेकर परेड सलामी तक शैली थॉमस बखूबी रोल अदा किया।

Satendra bhadoria Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned