छज्जा तोड़कर बनाया रास्ता, 16 दमकलों ने बुझाई आग

लाखों का माल जलकर खाक

By: Pushpam Kumar

Published: 17 Nov 2020, 12:43 PM IST

संत हिरदाराम नगर. संतनगर की तीन मंजिला कपड़ा दुकान में हनी फैंसी ड्रेस में सोमवार रात लगी भीषण आग से लाखों का माल जलकर खाक हो गया। करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद 16 दमकलों ने आग पर काबू पाया। दुकान संचालक हनी मोरन्दानी ने बताया कि वह शाम 7.30 बजे दुकान पर दीपक लगाकर अपने घर के लिए निकल गए, तभी उन्हें किसी ने फोन कर बताया कि दुकान में आग लग गई। जानकारी मिलने पर दुकान पहुंचने पर चारों और आग की लपटें दिखाई दीं। सूचना मिलने पर बैरागढ़ फायर स्टेशन से दमकल घटनास्थल पर पहुचीं और आग बुझाने का प्रयास किया। शुरुआत में आग तेजी से फैलने लगी इसके बाद दूसरे फायर स्टेशन से दमकलें बुलाई गईं। रात करीब 10 बजे आग पर काबू पाया गया।
संकरी गलियां बनी मुसीबत
आग लगने की सूचना मिलने पर दमकलें तो घटनास्थल के नजदीक पहुंच गईं, पर संकरी गलियों में अतिक्रमण से मुश्किल से दुकान तक पहुंच पाईं। मौके पर पहुंचने आसापास की दुकानों के छज्जे तोड़कर रास्ता बनाया गया।

बेसमेंट में बना रखे थे गोदाम, सामान बचाने फायर फाइटर्स से लगाई अंदर जाने की गुहार
भोपाल. हनुमानगंज थाना क्षेत्र स्थित कॉम्पलेक्स के बेसमेंट में बने गोदाम में रविवार रात लगी आग पर, 4 घंटे बाद रात करीब ढाई बजे काबू पाया जा सका। गोदाम में जूते भरे हुए थे, जिनके पीयूसी व रबर जलने व पिघलने से आग पर काबू पाने काफी मशक्कत करनी पड़ी। बता दें शहर में बेसमेंट का उपयोग गोडाउन और किचन के रूप में किया जा रहा है, जिससे इस तरह के हादसों की आशंका बढ़ रही है। फायर फाइटर पंकज यादव ने बताया, कृष्णा कॉम्पलेक्स के पीछे बने कॉम्पलेक्स के बेसमेंट में स्थित साजन ***** हाउस के गोदाम में रात 11 बजे आग लगने की सूचना मिली। मौके पर पहुंचे तो गोदाम तक जाने का रास्ता ही नहीं था। जो दो सीढिय़ां नीचे जाने की थीं, उन्हीं से धुआं आ रहा था। जूतों के प्लास्टिक, पीयूसी और रबर जलने से फैली आग ने आसपास के दो गोदामों को भी चपेट में ले लिया। मौके पर पहुंचे गोदामों के मालिक दमकलकर्मियों पर नीचे उतरकर सामान बचाने का दबाव बनाने लगे। 40 से अधिक कर्मियों की 4 घंटे की मशक्कत के बाद रात 2.30 बजे आग पर काबू पाया।

Pushpam Kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned