22.40 करोड़ दिए, फिर शिवराज बोले- बहनों के चेहरों पर खुशी देखता हूं, तो लगता है मुख्यमंत्री बनना सार्थक हो गया..

सिंगल क्लिक से 2.24 लाख से ज्यादा महिलाओं के खाते में 22 करोड़ 40 लाख 7 हजार रूपये ट्रांसफर किए गए

[email protected]भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि जब मैं बहनों के चहरों पर खुशी देखता हूँ तो मुझे लगता है कि मेरा मुख्यमंत्री बनना सार्थक हो गया। सरकार जनजातीय भाई-बहनों को राशन, आवास, शिक्षा, स्वास्थ्य के साथ ही उनके कौशल विकास पर भी ध्यान दे रही है, जिससे उनकी आर्थिक स्थिति बेहतर कर उन्हें समाज की मुख्यधारा में शामिल किया जा सके।
-------
यह बात शिवराज ने गुरुवार को मंत्रालय में विशेष पिछड़ी जनजाति सहरिया, भारिया एवं बैगा समुदाय की महिलाओं के बैंक खाते में अनुदान राशि ट्रांसफर करने के मौके पर कही। यहां सिंगल क्लिक से 2.24 लाख से ज्यादा महिलाओं के खाते में 22 करोड़ 40 लाख 7 हजार रूपये ट्रांसफर किए गए। यहां शिवराज ने वचुर्अल संवाद में कहा कि सहरिया, भारिया एवं बैगा जनजातियां सामाजिक, शैक्षणिक एवं आर्थिक दृष्टि से विशेष पिछड़ी हुई हैं। इनमें पोषण की स्थिति अच्छी नहीं है। इसलिए वर्ष 2017 में आहार अनुदान योजना शुरू की थी। इसमें हर महीने महिलाओं को एक-एक हजार रुपए पोषण आहार के लिए दिए जाते हैं। अब मंडला, डिंडौरी, शहडोल, शिवपुरी एवं छिंदवाड़ा में 5 कम्प्यूटर कौशल विकास केंद्र स्थापित किए जा रहे हैं। मुक्की जिला बालाघाट में बैगा सांस्कृतिक केंद्र, तामिया जिला छिंदवाड़ा में भारिया सांस्कृतिक केंद्र व श्योपुर में सहरिया सांस्कृतिक केन्द्र बनाए जाएंगे।
-------------
यूं हुआ वचुर्अल संवाद-
- दतियो की रामवती ने बताया कि सरकार से हर माह एक हजार रूपये मिलते हैं। इस राशि से बच्चों के लिए सब्जी और फल खरीदती हैं।
- बालाघाट के बारासिवनी की सीमा ने बताया कि वे मनिहारी का कार्य करती हैं। इस पर शिवराज ने निर्देश दिए कि सीमा को स्ट्रीट वेंडर योजना में बिना ब्याज 10 हजार का कर्ज दिलाया जाए।
- पातालकोट-छिंदवाड़ा की संगीता ने बताया कि उन्हें दूर की बैंक से पैसा मिलता है, इस पर शिवराज ने निर्देश दिए कि उन्हें पास की बैंक से पैसा दिलवाया जाए।
-------------------------------

जीतेन्द्र चौरसिया Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned