script33 percent rural population of the state is not using toilet for defecation | प्रदेश की 33 प्रतिशत ग्रामीण आबादी शौच के लिए नहीं कर रही ईज्जतघर का उपयोग | Patrika News

प्रदेश की 33 प्रतिशत ग्रामीण आबादी शौच के लिए नहीं कर रही ईज्जतघर का उपयोग

ग्रामीण भारत की 25 प्रतिशत आबादी कर रही खुले में शौच
एनएफएचएस-5 के सर्वे में हुआ खुलासा

भोपाल

Published: May 21, 2022 07:47:59 pm

भारत के ग्रामीण इलाकों में आज भी 25 से ज्यादा आबादी खुले में शौच करती है। वहीं शहरी क्षेत्र की बात करें तो करीब 6 प्रतिशत आबादी खुले में शौच कर रही है। खैर इन आंकड़ों में राहत की बात ये है कि साल 2015-16 के मुकाबले खुले में शौच करने वालों के आंकड़े में सुधार हुआ है। साल 2015-16 में जहां ग्रामीण इलाकों में 54 प्रतिशत से ज्यादा लोग खुले में शौच करते थे तो वहीं शहरी क्षेत्रों में ये आंकड़ा 10.5 प्रतिशत था। कुलमिलाकर आंकड़ों पर गौर करें तो शहर के अपेक्षाकृत गांवों में खुले में शौच करने वाले लोगों में 25 प्रतिशत की कमी आई है। इसका मतलब खुले में शौच करने को लेकर ग्रामीण आबादी में जागरूकता बढ़ी है। बता दें केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकारें तक लगातार खुले में शौच करने की आदत को खत्म करने के लिए प्रयासरत हैं।
प्रदेश की 33% ग्रामीण आबादी नहीं कर रही इज्जतघर का उपयोग

4_1.jpg

नेशनल फैमिली हेल्थ सर्वे की रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि मध्यप्रदेश की 33 प्रतिशत से ज्यादा ग्रामीण आबादी खुले में शौच करती है। वहीं शहर की बात करें तो शहर में ये आंकड़ा करीब 7 प्रतिशत है। चिंता की बात ये है कि मध्यप्रदेश अभी भी उन शीर्ष राज्यों में शुमार है जहां ज्यादा लोग इज्जतघर का प्रयोग नहीं करते हैं। ग्रामीण क्षेत्र में सबसे ज्यादा खुले में शौच करने वाले राज्यों की सूची में एमपी शीर्ष 5वें नंबर है। तो शहरी क्षेत्र वाले राज्यों की सूची में एमपी 6वें नंबर है।
ग्रामीण आबादी खुले में शौच को लेकर तेजी से बदल रही सोच
एनएफएचएस सर्वे रिपोर्ट की पड़ताल करने पर पता चला की खुले में शौच करने को लेकर ग्रामीण आबादी की सोच में तेजी से बदलाव हुआ है। 2015-16 में जहां पूरे ग्रामीण भारत की 54 प्रतिशत यानी की आधी से ज्यादा आबादी खुले में शौच करती थी। तो वहीं साल 2020-21 में 25 प्रतिशत की गिरावट के साथ ये आंकड़ा 25.9 प्रतिशत में आ गया। यानी की भारत की अभी भी 25.9 प्रतिशत ग्रामीण आबादी खुले में शौच कर रही है।
ग्रामीण इलाकों में खुले में शौच करने वाले शीर्ष 6 राज्य
राज्य----प्रतिशत
बिहार---43.9%

झारखंड---41.0%

उडीसा----37.0%

तमिलनाडू---33.9%

मध्यप्रदेश---33.3%

गुजरात---31.4%
(स्त्रोत- एनएफएचएस- 5)

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलसलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.