script600 crores of farmers are in banks | बैंकों में पड़े हैं किसानों के बीमा क्लेम के 600 करोड़ रुपए, जानिए अब कैसे होगा भुगतान | Patrika News

बैंकों में पड़े हैं किसानों के बीमा क्लेम के 600 करोड़ रुपए, जानिए अब कैसे होगा भुगतान

किसानों का ये पैसा अटक गया

भोपाल

Updated: March 21, 2022 11:59:24 am

भोपाल. मध्यप्रदेश के लाखों किसान पैसों के लिए परेशान हो रहे हैं। यह हाल तब है जबकि उनकी करोड़ों की राशि बैंकों में पड़ी है। प्रदेश के साढ़े तीन लाख किसानों के 600 करोड़ रुपए बैंकों के सस्पेंस एकाउंट —डीएमआर— में पड़े हुए हैं। किसानों के खातों में यह राशि नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रांसफर एनईएफटी के जरिए ट्रांसफर की जानी थी लेकिन एनईएफटी फेल होने के कारण किसानों का ये पैसा अटक गया। प्रदेश भर के किसान इस राशि के लिए एक महीने से बैंकों के चक्कर लगा—लगाकर परेशान हो रहे हैं। आरबीआई के नियमानुसार एनईएफटी फेल होने पर एक—दो दिन में पैसा मूल खाते में लौटना चाहिए पर किसानों की यह राशि बैंकों ने एक महीने से रोक रखी है।

kisan.png

सरकार ने किसानों को 12 फरवरी को 49 लाख बीमा क्लेम के 7618 करोड़ रुपए ट्रांसफर किए थे। इसमें सहकारी बैंक में 18 लाख 83 हजार 523 किसानों का 3240 करोड़ रुपए थे। जानकारी के अनुसार बैंकों ने 4 लाख 5 हजार 152 किसानों का 715 करोड़ 44 लाख रुपए रोक लिया। कुल राशि में से 600 करोड़ बैंकों ने सस्पेंस एकाउंट में डाल रखे हैं।

12 मार्च के बाद इंश्योरेंस कंपनी को राशि लौटाना शुरू की गई- बताया जा रहा है कि प्रदेश के 25 जिला सहकारी बैंकों में किसानों की यह राशि अटका रखी है. यह खरीफ 2020 और रबी 2020-21 के बीमा क्लेम की राशि है. शिकायत मिलने पर 12 मार्च को कृषि संचालक ने अपैक्स बैंक के एमडी और राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के स्टेट काे-आर्डिनेटर को पत्र लिखा. इसमें कहा गया कि किसानों के सही बैंक एकाउंट नंबर बीमा कंपनी को तुरंत उपलब्ध कराएं ताकि क्लेम का भुगतान किया जा सके। इसके बाद ही सहकारी बैंकों ने क्लेम निपटाने का काम शुरू किया। 12 मार्च के बाद इंश्योरेंस कंपनी को राशि लौटाना शुरू की गई,ताकि किसानों तक पैसा दोबारा पहुंच सके। हाल ही में 125 करोड़ रुपए एग्रीकल्चर इश्योरेंस कापोर्रेशन को लौटाए गए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Gyanvapi Masjid-Shringar Gauri Case: सुप्रीम कोर्ट में 20 मई और वाराणसी सिविल कोर्ट में 23 मई को होगी सुनवाईदिल्ली हाई कोर्ट से AAP सरकार को झटका, डोर स्टेप राशन डिलीवरी योजना पर लगाई रोकसुप्रीम कोर्ट का फैसला: रोड रेज केस में Navjot Singh Sidhu को एक साल जेल की सजा, जानें कांग्रेस नेता ने क्या दी प्रतिक्रियाGST पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, जीएसटी काउंसिल की सिफारिश मानने के लिए बाध्य नहीं सरकारेंपंजाब कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सुनील जाखड़ BJP में शामिल, दिल्ली में जेपी नड्डा ने दिलाई पार्टी की सदस्यतासुप्रीम कोर्ट द्वारा साइरस मिस्त्री की पुनर्विचार याचिका खारिज पर रतन टाटा ने क्या कहा?अलगाववादी नेता यासीन मलिक आतंकवाद से जुड़े मामले में दोषी करार, 25 मई को होगी अगली सुनवाईPalm Oil Export Ban : पाम आयल एक्सपोर्ट पर से बैन हटाने जा रहा इंडोनेशिया, अब भारत में खाद्य तेल सस्ते होने की उम्मीद
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.