scriptबल्ले-बल्ले…..6th, 9th और 11th क्लास के स्टूडेंट्स को मिलेंगे क्रेडिट अंक, बस करना होगा ये 1 काम | 6th, 9th and 11th class students will get 40-54 credit marks | Patrika News
भोपाल

बल्ले-बल्ले…..6th, 9th और 11th क्लास के स्टूडेंट्स को मिलेंगे क्रेडिट अंक, बस करना होगा ये 1 काम

Board of Secondary Education: साल भर में एक कक्षा में 75 फीसदी उपस्थिति अनिवार्य होगी। अब बोर्ड ने इसकी प्रभावशीलता का परीक्षण, मूल्यांकन करने के लिए छठी, नौवीं व ग्यारहवीं कक्षा में इन दिशा निर्देशों के एक पायलट कार्यान्वयन की योजना बनाई है।

भोपालJun 20, 2024 / 10:52 am

Ashtha Awasthi

Board of Secondary Education

Board of Secondary Education

Board of Secondary Education: नई शिक्षा नीति के तहत माध्यमिक शिक्षा मंडल क्रेडिट सिस्टम लागू करने पर विचार कर रहा है। इस सिस्टम के तहत बच्चों की स्कूल में उपस्थिति पर उन्हें क्रेडिट अंक दिए जाएंगे। यह घंटों के आधार पर होंगे। अभी यह कॉलेज और सीबीएसई में पहले से लागू है।
मंडल ने सीबीएसई और कॉलेजों से इसकी जानकारी देने के लिए पत्र लिखा है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने क्रेडिट सिस्टम को पॉयलट प्रोजेक्ट के तौर पर शैक्षणिक सत्र 2024-25 से छठीं, नौवीं व ग्यारहवीं में लागू करने की तैयारी की है। इस सिस्टम के तहत नौंवी में साल भर में 210 घंटे की पढ़ाई करने पर छात्रों को 40-54 क्रेडिट अंक मिलेंगे।

उपस्थिति के आधार पर दिए जाएंगे क्रेडिट अंक

यह क्रेडिट सभी विषयों में परीक्षा पास करने पर ही मिलेंगे। साल भर में एक कक्षा में 75 फीसदी उपस्थिति अनिवार्य होगी। अब बोर्ड ने इसकी प्रभावशीलता का परीक्षण, मूल्यांकन करने के लिए छठी, नौवीं व ग्यारहवीं कक्षा में इन दिशा निर्देशों के एक पायलट कार्यान्वयन की योजना बनाई है। इसी की तर्ज पर मंडल इस इस पैटर्न पर अध्ययन कर रहा है। अधिकारियों के मुताबिक इसकी हमने जानकारी मांगी है। कक्षा में उपस्थिति के आधार पर छात्र को क्रेडिट अंक दिए जाएंगे। प्राप्त होने वाले क्रेडिट एकेडमिक बैंक ऑफ क्रेडिट में जुड़ते रहेंगे।
कक्षाओं में क्रेडिट सिस्टम के लिए समीक्षा की जा रही है। इस सिस्टम के तहत बच्चों की कक्षा में उपस्थिति में उन्हें क्रेडिट दिए जाएंगे। जिसने ज्यादा क्रेडिट उतनी बेहतर परफारमेंट कहलाएगी। अभी इस पर विचार चल रहा है। सीबीएसई सहित कॉलेजों से इस सिस्टम की जानकारी मांगी है। कमल किशोर बरबड़े, प्रभारी विद्या क्षेत्र, माध्यमिक शिक्षा मंडल मध्य प्रदेश

ग्रेड में होंगे तब्दील

अधिकारियों ने बताया कि बाद में ये ग्रेड में तब्दील कर दिए जाएंगे। क्रेडिट प्रारंभिक चरण है। माध्यमिक शिक्षा मंडल सीबीएसई के पैटर्न को फॉलो करता है। नई शिक्षा नीति के तहत सीबीएसई ने क्रेडिट शुरू किया गया है। उसे देखते हुए मंडल भी इस पर अध्ययन कर रहा है।

अभी पांचवीं आठवीं में है ग्रेडिंग

दसवीं बारहवीं में भले ही ग्रेङ्क्षडग सिस्टम न हो लेकिन प्रदेश में कक्षा पांचवीं और आठवीं में यह सिस्टम लागू है। बच्चों को अंकों की बजाय ग्रेड दिए जाते हैं। राज्य शिक्षा केन्द्र ने ये परीक्षाएं कराई थी। जो बोर्ड पैटर्न पर हुई थीं।

Hindi News/ Bhopal / बल्ले-बल्ले…..6th, 9th और 11th क्लास के स्टूडेंट्स को मिलेंगे क्रेडिट अंक, बस करना होगा ये 1 काम

ट्रेंडिंग वीडियो