800 फीवर क्लीनिक खुलेंगे, आसान होगा कोराना का इलाज

- महामारी को हराना है: संदिग्ध लक्षण मिलते ही होगी जांच
- तीन चेन की स्टेज पर होगा ट्रीटमेंट

By: anil chaudhary

Published: 21 May 2020, 05:15 AM IST

भोपाल. कोरोना वायरस के कहर से निपटने के लिए सरकार प्रदेशभर में फीवर क्लीनिक खोलेगी। पहले चरण में 800 क्लीनिक खोलने की तैयारी है। इसमें तीन स्टेज पर मरीजों की जांच व ट्रीटमेंट होगा। इसमें मरीजों का सामान्य उपचार, डेडीकेटेड हॉस्पिटल भेजना और अन्य अस्पताल में भेजने की तीन कैटेगरी को मुख्य रूप से फॉलो किया जाएगा। इसी हफ्ते के अंत तक यह फीवर अस्पताल शुरू हो जाएंगे।
दरअसल, जून-जुलाई में अब कोरोना संक्रमण के और बढऩे की आशंका को कम करने के लिए सरकार ने फीवर क्लीनिक का कॉन्सेप्ट अपनाना तय किया है। जून मध्य से प्री-मानसून के कारण मौसम बदलने लगता है। इस कारण मौसम बदलने से भी सर्दी-बुखार, फीवर के सामान्य मरीज बढ़ जाते हैं। उस पर अभी कोरोना काल चल रहा है। इस कारण पब्लिक में सामान्य फीवर पर तुरंत इलाज मिल सके और कोरोना को कंट्रोल किया जा सके, इस मंशा से सरकार फीवर क्लीनिक शुरू कर रही है।
- मोहल्ला क्लीनिक का ही कॉन्सेप्ट
प्रदेश में फीवर क्लीनिक का कॉन्सेप्ट मोहल्ला क्लीनिक की तर्ज पर ही काम करेगा। इसमें सर्दी, बुखार, खांसी और सामान्य परेशानी के मरीज जाकर उपचार करा सकेंगे। फीवर क्लीनिक पर मौजूद डॉक्टर की टीम लक्षण के हिसाब से मरीजों को आगे रेफर करेगी। यदि सामान्य लक्षण है तो इलाज वहीं हो जाएगा। यदि लक्षण सामान्य नहीं हैं, तो कोरोना के लिए डेडीकेटेड अस्पताल और अन्य अस्पताल में रेफर किया जाएगा।

- अलग अंदाज में होगा ट्रीटमेंट
फीवर अस्पताल में कोरोना संक्रमण का ध्यान रखा जाएगा। इसी हिसाब से डॉक्टर भी इलाज करेंगे। इसमें डॉक्टर और मरीज मास्क पहने होंगे। साथ ही क्लीनिक में संक्रमण से एतिहात की दृष्टि सेें डॉक्टर व मरीज के बीच प्लास्टिक के परदे का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। कुछ राज्यों में इसे अपनाया गया है। फीवर क्लीनिक में निजी अस्पताल भी शामिल रहेंगे। सरकार इनसे मरीजों की पूरी रिपोर्ट लेगी। साथ ही मरीजों के इलाज पर आर्थिक सहायता देगी।
- चरणबद्ध तरीके से खोले जाएंगे क्लीनिक
प्रदेश में फीवर क्लीनिक चरणबद्ध तरीके से खोले जाएंगे। अभी 800 क्लीनिक खोले जा रहे हैं। इनमें चरणबद्ध तरीके से सभी संभागीय मुख्यालय, जिले, विकासखंड और तहसीलों को कवर किया जाएगा। जरूरत के मुताबिक बाद में इन्हें बढ़ाया भी जाएगा। सरकार इनकी परफार्मेंस रिपोर्ट भी बनाएगी।

सरकार प्रदेश में 800 फीवर क्लीनिक खोलने जा रही है। कोरोना के चलते कोई भी मरीज बुखार, सर्दी-खांसी या ऐसे दूसरे लक्षण होने पर यहां जाकर जांच करा सकेगा। इससे जनता को सुविधा होगी और संक्रमण रोकने में मदद मिल सकेगी।
फोटो - फैज अहमद किदवई, प्रमुख सचिव, स्वास्थ्य विभाग

anil chaudhary Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned