बेटे के साथ बाइक पर बैठे थे पिता, स्पीड ब्रेकर पर उछलकर सड़क पर गिरे हुई मौत

बेटे के साथ बाइक पर बैठे थे पिता, स्पीड ब्रेकर पर उछलकर सड़क पर गिरे हुई मौत

KRISHNAKANT SHUKLA | Updated: 04 Jul 2019, 10:46:41 AM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

गांधी नगर क्षेत्र में निर्माणाधीन ओवर ब्रिज के पास की घटना
21 दिनों तक चला इलाज

भोपाल. राजधानी की सडक़ों पर बने स्पीड ब्रेकर ( speed breake ) वाहन चालकों के लिए जानलेवा साबित हो रहे हैं। गांधी नगर इलाके में बीते दिनों बेटे की बाइक पर पीछे बैठे पिता ब्रेकर पर उछलकर सडक़ पर सिर के बल गिर गए। ( accident ) हादसे में गंभीर रूप से घायल पिता को बेटे ने अस्पताल में भर्ती कराया, जहां, 21 दिन तक चले उपचार के दौरान पिता ने दम तोड़ दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

स्पीड बे्रकर जानलेवा: बाइक पर पीछे बैठे नागराजन संतुलन खो बैठे और वह सडक़ पर सिर के बल नीचे गिर गए। उनके सिर में गंभीर चोट लगी थी, जिससे उनकी मौत हो गई।


MUST READ : Budget 2019 : महिलाओं को बड़ी सौगात दे सकता है नई सरकार का केन्द्रीय बजट

बनी रहती है हादसे की आशंका

मिनाल रेसीडेंसी निवासी 57 वर्षीय नागराजन निजी कंपनी में जॉब करते थे। 12 जून की दोपहर वह गांधी नगर इलाके से अपने बेटे की बाइक पर बैठकर बैरागढ़ की तरफ आ रहे थे।

अभी वह निर्माणाधीन ओवर ब्रिज पर पहुंचे ही थे कि अचानक सडक़ पर बनाए गए स्पीड ब्रेकर में बाइक उछल गई। इससे बाइक पर पीछे बैठे नागराजन अपना संतुलन खो बैठे और सडक़ पर सिर के बल नीचे गिर गए। इस हादसे में उनके सिर में गंभीर चोट आई थी।

MUST READ : Passport: विदेश मंत्रालय ने कहा- आवेदक न छिपाएं जानकारी, वर्ना होल्ड हो
जाएगा पासपोर्ट

speed breaker

मामले की जांच कर रहे एसआई शिवभवन तिवारी का कहना है कि हादसे के वक्त बाइक चला रहे नागराजन के बेटे के बयान नहीं हो सके हैं। इससे हादसे की वजह का असल कारण नहीं पता चल पा रहा है। वहीं, स्थानीय लोगों का कहना है कि स्पीड ब्रेकर की ऊंचाई अधिक होने के कारण हमेशा हादसे की आशंका बनी रहती है।

नियमों का उल्लंघन करने पर घर पर भेजा जाएगा चालान

बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम (बीआरटीएस) के सभी एंट्री और एग्जिट पांइट्स पर कैमरे लगेंगे। इंटीग्रेटेड टै्रफिक मैनेजमेंट सिस्टम (आईटीएमएस) के इन कैमरों से बीआरटीएस में प्रवेश व निकलने वाले वाहनों पर नजर रखी जाएगी। वाहन नंबर से घर पर चालान भेजा जाएगा और निजी वाहनों की बीआरटीएस में एंट्री पर रोक लगेगी।


MUST READ : पानी पूरी सेहत के लिए हानिकारक, जांच रिपोर्ट में हुआ खुलासा

आधुनिक तकनीक वाले कैमरों का इंस्टॉलेशन जल्द होगा, इससे एक माह में चालान भेजना शुरू हो जाएगा। निगमायुक्त विजय दत्ता ने बुधवार को स्मार्टसिटी में बैठक कर इसके निर्देश दिए। बैठक में एएसपी ट्रैफिक प्रदीप सिंह चौहान भी रहे। दत्ता ने अधिकारियों को बीआरटीएस कॉरिडोर के छह एंट्री व एक्सिट पॉइंट पर कैमरे लगाने के निर्देश दिए। दत्ता का कहना है जल्द ही कैमरे लगाने का काम पूरा कर लिया जाएगा।

 

इन लोकेशनों पर लगेंगे कैमरे

बीआरटीएस के छह लोकेशनों पर कैमरों से निगरानी की जाएगी। इसमें आशिमा मॉल, सी-21 मॉल, वीर सावरकर सेतु के पास, एम्प्री के सामने, पॉलिटेक्निक चौराहा के पास, हलालपुरा से बैरागढ़ जाने वाले मार्ग पर, बाणगंगा से पॉलिटेक्निक जाने वाले मार्ग पर, हबीबगंज गणेश मंदिर आदि स्थानों पर कैमरे लगाए जाएंगे।

मल्टीपल चालान पर होगी कारवाई

ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने व चालान जमा नहीं करने वाले वाहन चालकों पर कारवाई की जाएगी। जिनके एक से अधिक बार चालान बने हैं उनके खिलाफ भी कारवाई की तैयारी चल रही है। मल्टीलेवल पार्किंग वाले क्षेत्रों में नो-पार्किंग में खड़े वाहनों के खिलाफ भी सख्ती से कारवाई का फैसला लिया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned