2 जून को मंदिर में जरूर करें ये उपाय, सुधर जाएगी फाइनेंसियल प्रॉब्लम

2 जून को मंदिर में जरूर करें ये उपाय, सुधर जाएगी फाइनेंसियल प्रॉब्लम

By: Manish Gite

Published: 01 Jun 2018, 06:00 PM IST

 

भोपाल। 2 जून का दिन श्रद्धालुओं के लिए खास है। इस दिन श्रद्धालु अपनी आर्थिक परेशानियों और संकटों को दूर करने के लिए गणेश मंदिरों में आराधना के लिए जुटेंगे। क्योंकि, ज्येष्ठ के अधिक मास की चतुर्थी का विशेष महत्व माना गया है। क्योंकि भगवान गणेश इस दिन संकट दूर करते हैं। इसके बाद अधिकमास की चतुर्थी अब 2021 में ही आएगी।

भोपाल के पिपलानी स्थित गणेश मंदिर और हबीबगंज रेलवे फाटक स्थित गणेश मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु पहुंचेंगे। इसके अलावा बिड़ला मंदिर, माता मंदिर, न्यू मार्केट स्थित हनुमान मंदिर, छोला गणेश मंदिर में बड़ी संख्या में श्रद्धालु विशेष पूजा अर्चना करेंगे। इसके अलावा भोपाल से बड़ी संख्या में श्रद्धालु सीहोर स्थित चिंतामन गणेश मंदिर दर्शन करने जाते हैं। वहां भी वे इन उपायों में से कोई एक उपाय जरूर करें।

 

इसलिए खास है यह चतुर्थी
बुद्धि के दाता प्रथम पूज्यनीय गणेशजी को प्रसन्न करने का यह सबसे बड़ा दिन माना गया है। इस दिन सही मुहूर्त में पूजा करने पर मनोकामना जरूर पूरी होती है। मान्यता है कि भगवान गणेशजी का जन्म मध्यकाल में हुआ था, इसलिए इनका पूजन भी इस दौरान करना चाहिए।

क्या कहते हैं पंडितजी
भोपाल के ज्योतिषाचार्य पं. जगदीश शर्मा के मुताबिक यह चतुर्थी तो गणेशजी को प्रसन्न करने के लिए बेहद ही खास है। इस दिन विशेष उपाय करने से मनोकामना पूरी होती है।

mp.patrika.com पर जानते हैं इस विशेष पूजा का महत्व और भगवान गणेश क्यों दूर कर देते हैं भक्तों की परेशानी।

 

पं. शर्मा बताते हैं कि चतुर्थी तिथि पर दूर्वा के श्रीगणेश बनाकर पूजा करना चाहिए। इससे आपकी कैसी भी समस्या हो, वो दूर हो जाती है। पुराणों के मुताबिक इस चतुर्थी के बारे में जब राजा युधिष्ठिर ने सुना तो उन्होंने भी व्रत रखा। इसके ही प्रभाव से शत्रुओं पर विजय हुई और पूरा भारत उनके अधीन हो गया था। वैभव भी बढ़ गया था।

-इस दिन भगवान गणेश को हल्दी की पांच गठान अर्पित करना चाहिए। जब आप भगवान के चरणों में इसे अर्पित करते हैं तभी श्री गणाधिपतयै नमः का जब करना चाहिए। यह कम से कम तीन बार जरूर बोलना चाहिए। इससे प्रमोशन की संभावनाएं बढ़ जाती है।

-गणेशजी के मंदिर जाकर गुड़ की 21 गोलियां बनाकर दूर्वा के साथ उन्हें अर्पित करना चाहिए। इससे आपके स्वास्थ्य में लाभ हो जाएगा। 'इदं अक्षतम् ऊं गं गणपतये नमः' का जप करने से सुख मिलता है।

-चतुर्थी तिथि पर भगवान श्रीगणेश का शुद्ध पानी से अभिषेक करने से विशेष लाभ होता है। गणपति अथर्वशीर्ष का पाठ भी करें। गणेश जी को सिंदूर बहुत पसंद है। 'सिन्दूरं शोभनं रक्तं सौभाग्यं सुखवर्धनम्। शुभदं कामदं चैव सिन्दूरं प्रतिगृह्यताम्॥ ओम गं गणपतये नमः' मंत्र बोलते हुए उनके मस्तक पर सिंदूर लगाना चाहिए। मनोकामना जरूर पूरी होगी।

-2 जून को पड़ने वाली चतुर्थी का व्रत रखने और तिल के लड्डू का भोग लगाने से आपकी शुभेच्छाएं पूरी हो जाएंगी। इस दौरान गं गणपतेय नमः का जप करना चाहिए।

-इसी दिन गाय के शुद्ध घी और गुड़ का भोग लगाने से घर में धन संबंधी समस्या सुलझ जाती है। इस दिन व्रत भी रखना उचित होता है। शमी के कुछ पत्ते गणेश जी को चढ़ाने से भी धन की समस्या दूर हो जाती है।

-इस दिन हाथी को चारा खिलाने से गणेशजी प्रसन्न हो जाते हैं। इसके बाद गणेशजी के मंदिर जाकर अपनी परेशानियों का निराकरण करने की प्रार्थना करना चाहिए।

Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned