तय फीस से ज्यादा राशि वसूली तो कॉलेजों पर होगी सख्त कार्रवाई

छात्रों द्वारा कई प्राइवेट कॉलेजों की शिकायत मिलने के बाद एफआरसी ने जारी किए निर्देश

 

भोपाल. प्रदेशभर में संचालित प्राइवेट कॉलेजों में अक्सर छात्र-छात्राओं पर लेट फीस के साथ फीस जमा कराने के मामले सामने आ रहे हैं। हालात यह हैं कि छात्र-छात्राओं को लिखित में कोई सूचना दिए बगैर ही जुर्माना सहित फीस जमा करने का दबाव बनाया जा रहा है। विद्यार्थी डर के कारण खुलकर शिकायत नहीं कर पा रहे। ऐसे में छात्रों से विभिन्न कारण बताकर तय फीस से अधिक वसूली जा रही है।
एडमिशन एंड फी रेगुलेटरी कमेटी (एएफआरसी) को पिछले काफी समय से इस तरह की शिकायतें मिल रही थीं। इसके बाद एएफआरसी के चेयरमैन डॉ. कमलाकर सिंह ने इस पर संज्ञान लेते हुए सभी कॉलेज संचालकों को पत्र जारी कर चेतावनी दी है। एएफआरसी चेयरमैन ने बताया कि कमेटी ने निजी क्षेत्र के कॉलेजों की शिक्षा सत्र 2021-22 तक के तीन सत्रों के ब्लॉक के लिए फीस निर्धारित की है। इसके अलावा कमेटी ने 2019-20 से ऐच्छिक मद में ली जाने वाली फीस भी निर्धारित की है। जिसकी जानकारी कॉलेजों को भी भेजी गई है, लेकिन कमेटी को विभिन्न माध्यमों से यह आवेदन प्राप्त हो रहे हैं कि कुछ कॉलेजों द्वारा तय फीस से अधिक फीस ली जा रही है। अब कमेटी ने इनके खिलाफ कार्रवाई करने की तैयारी की है। इसमें कॉलेजों पर जुर्माना सहित मान्यता समाप्ति के लिए कार्रवाई की जा सकती है। जानकारी के मुताबिक एएफआरसी को नियमानुसार 10 लाख रुपए तक जुर्माना का लगाने का अधिकार है।

छात्र व परिजन ऐसे कर सकते हैं शिकायत
एएफआरसी द्वारा कॉलेजों की तय फीस की जानकारी छात्र व उनके परिजन कमेटी के पोर्टल से प्राप्त कर सकते हैं। पोर्टल पर मौजूद ग्रीवांस ऑप्शन से ऑनलाइन शिकायत भी दर्ज कर सकते हैं।

विकास वर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned