एम्स में पीजी पाठ्यक्रम शुरू, मेडिकल छात्रों ने दी दस्तक

एम्स में पीजी पाठ्यक्रम शुरू, मेडिकल छात्रों ने दी दस्तक

Juhi Mishra | Publish: Jan, 03 2017 08:00:00 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

वर्ष 2017 में साढ़े चार साल का पाठ्यक्रम पूरा हो गया। ऐसे में छात्र को पीजी कोर्स के लिए बाहर का रुख न करना पड़े, इसी के मद्देनजर प्रबंधन ने पीजी कोर्स की शुरुआत की।

भोपाल। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) भोपाल में सोमवार से पोस्ट-ग्रेजुएशन (पीजी) कोर्स शुरू हो गया। नॉन क्लीनिकल विषयों के लिए एमडी कोर्स के लिए छात्रों ने एम्स में आमद दी है। दरअसल, वर्ष 2013 में एम्स में एमबीबीएस की 100 सीट की मान्यता मिली थी।

वर्ष 2017 में साढ़े चार साल का पाठ्यक्रम पूरा हो गया। ऐसे में छात्र को पीजी कोर्स के लिए बाहर का रुख न करना पड़े, इसी के मद्देनजर प्रबंधन ने पीजी कोर्स की शुरुआत की। एम्स के प्रभारी डायरेक्टर डॉ. नितिन एम. नागरकर ने बताया कि सोमवार से नॉन क्लीनिकल विषयों में पीजी कोर्स की शुरुआत की गई है। संभवत: अगले सत्र से क्लीनिकल विषयों में भी पीजी कोर्स शुरू किए जा सकते हैं।

ये शुरू हुए कोर्स
एनाटॉमी, फिजियोलॉजी, माइक्रोबायलॉजी, फॉरेंसिक मेडिसिन, फैमिली मेडिसिन सहित सात विषयों में इसे शुरू किया गया है। अगले सत्र में कार्डियोलॉजी, न्यूरोलॉजी, गेस्ट्रोएटेरोलॉजी, नेफ्रोलॉजी, हेमेटोलॉजी, कार्डियोथोरोसिस सर्जरी, न्यूरो सर्जरी, पीडियाट्रिक सर्जरी और गायनी विषयों में पीजी कोर्स शुरू किए जाएंगे।

फरवरी से ट्रॉमा यूनिट 
सूत्रों के मुताबिक, संस्थान में जल्द ही नए चिकित्सकों की आमद होगी। इसके लिए इंटरव्यू प्रक्रिया चल रही है। वहीं 200 नर्सों का चयन किया जा चुका है। नए चिकित्सक के आते ही अगले माह से ट्रॉमा यूनिट और इमरजेंसी यूनिट शुरू हो जाएगी। 

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned