अब आपके घरों में जलेगी हवा, पानी और सूरज से बनी बिजली, यूनिट चार्ज भी 80 फीसदी तक होगा कम

अब हवा, पानी और सूरज से बनेगी बिजली। सीएम शिवराज बोले- आम उपभोक्ताओं को मिलेगा इसका फायदा।

By: Faiz

Published: 23 Sep 2021, 06:43 PM IST

भोपाल. महंगी दरों पर बिजली खरीदने को मजबूर मध्य प्रदेश वासियों के लिये बड़ी राहत की खबर है। जल्द ही मध्य प्रदेश में हवा, सूरज और पानी से उतपन्न होने वाली बिजली लोगों के घरों रोशन करेगी। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस संबंध में कहा कि, बिजली के आधुनिकीकरण के क्षेत्र में केंद्रीय ऊर्जा मंत्री आर.के सिंह से मुलाकात की, जिसमें इस संबंध में निर्णय लिया गया है। खास बात ये है कि नई व्यवस्था से बनने वाली बिजली की दरों का भार भी करीब 80 फीसदी तक कम हो जाएगा।

बुधवार रात को दिल्ली दौरे से लौटे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी ने बिजली के क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन करने का फैसला किया है। इसलिए आधुनिक तकनीक और नये तरीकों से बिजली के क्षेत्र को मजबूत किया जाएगा। उन्होंने बताया कि, इसमें 60 फीसदी राशि केंद्र सरकार द्वारा खर्च की जाएगी, जबकि 40 फीसदी खर्च बिजली कंपनी को करना होगा।

 

उपभोक्ता को 2 रुपये 14 पैसे यूनिट की दर मिल सकेगी बिजली

मुख्यमंत्री के अनुसार, मध्य प्रदेश इस योजना से सहमत है। ऐसे में केंद्रीय मंत्री से मुलाकात के बाद राज्य में बिजली व्यवस्था मजबूत करने के लिये चर्चा की गई। उन्होंने कहा एमपी में सूरज 300 दिन चमकता है। इसलिए हम सोल एनर्जी के क्षेत्र में बिजली अधिक विकसित कर सकते हैं। बता दें कि, रीवा मे 750 मेगा वॉट प्लांट लगाया गया है। फिलहाल, इससे दिल्ली मेट्रो की बिजली आपूर्ति की जाती है। इसी तर्ज पर अब नीमच और आगर मालवा में लगे प्लांट से उपभोक्ताओं को बिजली सप्लाई की जाएगी। सीएम के अनुसार, इस तरह बिजली उत्पादन करके इतनी कम लागत आएगी की उपभोक्ता को 2 रुपये 14 पैसे यूनिट की दर बिजली दी जा सकेगी।

 

पढ़ें ये खास खबर- देश का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे, सिर्फ 12 घंटे में पहुंचेंगे दिल्ली से मुंबई, जानिये खूबियां


यहां भी तेजी से चल रहा है काम

सीएम ने बताया कि, इसके अलावा ओंकारेश्वर में फ्लोटिंग प्लांट लगाने का कार्य भी किया जा रहा है। इस व्यवस्था के तहत पानी की सतह पर सोलर पैनल बिछाकर बिजली का उत्पादन किया जाएगा। इसके साथ ही, छतरपुर, मुरैना में भी सोलर प्लांट बनाने का काम युद्ध स्तर पर किया जा रहा है।


किसानों के लिए भी ये व्यवस्था रहेगी लाभकारी

सीएम शिवराज के अनुसार, सोल एनर्जी के उत्पादन से पर्याप्त बिजली मिलने का लाभ किसानो को भी होगा। पर्याप्त बिजली के चलते खेती के क्षेत्र में तेजी आएगी। सीएम ने बताया कि, ज्यादा बिजली बनाकर स्टोर भी की जा सकेगी। उत्पादन की क्षमता भी 650 मेगा वॉट लगातार बढ़ती रहेगी।

 

पढ़ें ये खास खबर- पूर्व CM दिग्विजय सिंह बोले- मुसलमानों की बढ़ती जनसंख्या देश के लिये खतरा नहीं


MP में कहीं बिजली की कमी नहीं- शिवराज

सूबे में बिजली की कमी को नकारते हुए सीएम ने कहा कि, प्रदेश में कही भी बिजली की कोई कमी नहीं है। सिर्फ 3 से 4 दिनों के लिए इस तरह की स्थित उत्पन्न हुई थी। कोयला की आपूर्ति न होने और नर्मदा तथा इंद्रा सागर, सरदार सरोवर डैम खाली होने से हुई थी। इसके अलावा, बारिश एक हिस्से में ज्यादा हुई तो एक में सूखा भी रहा। ये भी बिजली की कमी का बड़ा कारण रहा। लेकिन बाहर से बिजली लेकर तीन से चार दिनों के भीतर इस समस्या का भी निराकरण कर दिया गया था।

 

दिग्विजय सिंह बोले- मुसलमानों की बढ़ती आबादी से देश को खतरा नहीं, देखें वीडियो

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned