अलखनंदन की काव्य परंपरा को 10 युवाओं ने किया जीवंत

अलखनंदन की काव्य परंपरा को 10 युवाओं ने किया जीवंत

hitesh sharma | Publish: Sep, 03 2018 02:17:01 PM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

पोएटिक ईव बाय योविन और ओपन माइक का आयोजन

भोपाल। अलखनंदन की 'काव्य परंपरा' पर रविवार शाम नटबुंदेले नाट्य संस्था द्वारा डिपो चौराहा स्थित टी टॉक्स में 'पोएटिक ईव बाय योविन' कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर शहर के युवा कवियों ने अपनी कविताओं का पाठ किया। इसमें अंशपायन सिन्हा, जितेन्द्र परमार (स्क्रीनप्ले राइटर), शिव कटारिया (अभिनेता), रिया तीथार्नी (एक्ट्रेस), हरिनारायण विश्वकर्मा (चित्रकार), याशिका, सौरभ, योगेश (लेखक), सुभाष जाटव, अभिषेक शास्त्री और पवन पाटीदार ने भाग लिया।

काव्य परंपरा

तेरा इंकार और तमाम, गुजारिशें मेरी...
इस कवितामयी शाम में युवा कवियों में सबसे पहले पवन पाटीदार ने तू भी मर्यादा सीख ले... कविता का पाठ किया। इसके बाद अभिषके शास्त्री ने एक तेरा इंकार और तमाम, गुजारिशें मेरी... कविता का पाठ कर सभी को भावुक किया। वहीं तुझसे मेरा मुझसे तेरा दो धर्मों सा नाता है 'एक ही हैं हम' जमाना हमें अलग बताता है... का पाठ कर जैकी भावसार ने सभी तालियां बटोरीं। इस शाम में शिव ने मुझे अब घर में घुटन सी होती है... का पाठ किया।

काव्य परंपरा

कहानियों ने किया भावुक
द सेक्रेड माइक ग्रुप द्वारा मी एंड यू कैफे में रविवार को ओपन माइक का आयोजन किया गया। जिसमें शहर के 16 से लेकर 40 साल के 30 से ज्यादा नए कलाकारों ने हिस्सा लिया। ओपन माइक में कलाकारों ने कविता, कहानी पाठ स्टैंडअप कॉमेडी और विभिन्न म्यूजिकल इंसेट्रुमेंट की प्रस्तुति दी। प्रोग्राम के शुरुआत में सनी कुमार ने मुस्कान- एक वैश्या की कहानी सुनाई, जिसे सुनकर लोग भावुक हो गए। वहीं स्टैंडअप कॉमेडियन राहुल शुक्ला और आदित्य ने लोगों को हसां-हसांकर लोट-पोट किया। हंसी का ये सिलसिला यहीं नहीं थमा।

 

 

काव्य परंपरा

बॉलीवुड गीतों पर झूमे दर्शक
कार्यक्रम को आगे बढ़ते हुए श्रेया त्रिवेदी ने आज जाने की जिद न करो और मुस्कान ने चिकनी चमेली गाकर सभी को झूमा दिया। वहीं निशांत उपाध्याय,गौरव धनोतिया, रोहित सोनी और आकांक्षा की प्यार की कविताओं ने सभी को मोहित कर दिया। निखिल महेश ने बांसुरी वादन से बॉलीवुड के गाने सुनाकर कार्यक्रम का समापन किया।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned