MP में नए साल से बंद होंगे शराब अहाते

'दिल से' में सीएम का ऐलान, बोले गरीबों को योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए एकीकृत गरीब कल्याण पोर्टल बनेगा।

By: दीपेश तिवारी

Published: 13 Nov 2017, 09:58 AM IST

भोपाल। प्रदेश में नए साल से शराब अहाते बंद हो जाएंगे। यह व्यवस्था शराब दुकानों की नीलामी के साथ ही लागू होगी। यह ऐलान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने रविवार को रेडियो कार्यक्रम 'दिल से' में किया। उन्होंने कहा, गरीबों को योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए एकीकृत गरीब कल्याण पोर्टल बनेगा।

मुख्यमंत्री बाल हृदय उपचार और राज्य बीमारी सहायता योजना के आवेदन और स्वीकृति की प्रक्रिया ऑनलाइन होंगी। मुख्यमंत्री ने कहा, वाहनों में जीपीएस और स्कूल-यात्री बसों में सीसीटीवी कैमरे लगेंगे। महिला-कन्या छात्रावासों, आश्रय गृह आदि में विशेष सुरक्षा होगी। संवेदनशील क्षेत्र भी चिंहित होंगे, जहां पुलिस पेट्रोलिंग और प्रकाश की व्यवस्था होगी। किसानों को अस्थायी बिजली कनेक्शन दो माह के लिए भी मिलेंगे। जले ट्रांसफामरों को बदलने के लिए 20 फीसदी राशि अग्रिम देना होगी।

ये होगा असर!:

- शराब दुकानों के अहाते बंद होने से ठेकों के आसपास होने वाली असामाजिक गतिविधियों पर अंकुश लगेगा।

- महिला सुरक्षा की दिशा में महत्वपूर्ण कदम होगा। आमतौर पर अहाते के आसपास से निकलने वाली महिलाओं को छींटाकशी का सामना करना पड़ता है।

- अहाते की आड़ में लोग सड़क पर बैठकर शराब पीते हैं, जिससे ट्रैफिक व्यवस्था भी चरमराती है।

- इस फैसले से सरकार का राजस्व नुकसान नहीं होगा।

एक की आड़ में कई अहाते चलाते थे ठेकेदार

- मप्र में करीब 23 हजार देशी और विदेशी शराब दुकानें हैं और लगभग इतने ही अहाते भी संचालित हैं।

- कई जगह तो एक ठेके के साथ दो-दो अहाते चलते हैं।

- ठेकेदार अहाते किराए पर देकर मोटी रकम वसूलते थे।

समय बढ़ाया:
शराब को लेकर सरकार का कई बार दोहरा रवैया सामने आया है। इसी वित्तीय वर्ष में सरकार ने शराब दुकानों के खुलने की सीमा रात साढ़े दस से बढ़ाकर साढ़े ग्यारह बजे कर दी थी। इससे शराब ठेकों के आसपास देर रात तक भीड़ जमा रहती है।

इधर, स्वाइन फ्लू से एक महिला की मौत :-
स्वाइन फ्लू के वायरस ने रविवार को एक महिला की जान ले ली। महिला का इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा था। स्वाइन फ्लू से अभी तक ३० मरीजों की मौत हो चुकी है। इसके साथ डेंगू और चिकनगुनिया का प्रकोप भी स्वास्थ्य विभाग के लिए चुनौती बना हुआ है। जानकारी के अनुसार ६९ साल की विशनलता गोयल को कुछ दिन पहले शहर के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

उनके स्वाब के नमूने में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई थी। विशेषज्ञों के अनुसार दिन में गर्म और रात में सर्द मौसम वायरस को पनपने के लिए उपयुक्त होता है। शहर में अभी तक स्वाइन फ्लू के १७० मरीज मिल चुके हैं।

डेंगू के भी पांच नए मरीज मिले
रविवार को आई जांच रिपोर्ट में शहर के अस्पतालों में भर्ती ५ और लोगों में डेंगू की पुष्टि हुई है। डेंगू के मरीजों की संख्या ७५० के ऊपर पहुंच चुकी है। वहीं, चिकनगुनिया भी ४०० से अधिक लोगों को पीडि़त कर चुका है। स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम द्वारा किए गए सभी प्रयास इन बीमारियों के आगे बौने नजर आ रहे हैं।

दो-तीन किमी तक रहेगी विजिबिलिटी
मौसम विभाग के अनुसार राजधानी में सुबह १० बजे तक ०२ से ०३ किमी तक विजिबिलिटी रहेगी। हल्की धुंध सुबह के समय जरूर हो सकती है। इधर, दिन और रात के तापमान में हल्की गिरावट बनी हुई है। एेसे में रात के समय ठंड में बढ़ोतरी होती जा रही है। सुबह की आर्द्रता सामान्य से १० प्रतिशत अधिक बनी हुई है। मौसम विभाग के अनुसार रविवार को राजधानी में अधिकतम तापमान २९.० डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। यह सामान्य तापमान से ०१ डिग्री सेल्सियस कम था।

दीपेश तिवारी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned