Amarnath yatra 2020: अमरनाथ यात्रा की तारीखों की घोषणा, ऐसे करें आवेदन

1 अप्रैल से शुरू हो जाएंगे रजिस्ट्रेशन, फिर रेलवे रिजर्वेशन की चिंता...।

By: Manish Gite

Updated: 18 Feb 2020, 06:20 PM IST

भोपाल। जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद इस साल की अमरनाथ यात्रा काफी अहम हैं। अमरनाथ यात्रा और उसके पंजीयन की तारीखों की घोषणा कर दी गई है। 23 जून से अमरनाथ यात्रा की शुरुआत होगी, वहीं इसके लिए 1 अप्रैल से पंजीयन शुरू हो जाएगा। एक माह की देरी से पंजीयन होने के कारण इस बार श्रद्धालुओं को रिजर्वेशन में मशक्कत करना पड़ सकती है।

amarnath3.jpg

अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले लोगों को अमरनाथ श्राइन बोर्ड में पंजीयन करवाने में इस बार एक माह अधिक इंतजार करना पड़ेगा। श्राइन बोर्ड ने पंजीयन शुरू करने की तारीख इस बार एक अप्रैल घोषित की है।

 

 

amarnath.jpg

गौरतलब है कि हर साल अमरनाथ यात्रा के पंजीयन ( amarnath yatra registration 2020 ) के लिए मध्यप्रदेश के श्रद्धालुओं को काफी मशक्कत करना होता है। भोपाल और इंदौर में अमरनाथ यात्रा के पंजीयन किए जाते हैं। पिछले साल अगस्त में हुए इस बड़े फैसले के बाद वहां कई पाबंदियां लगा दी गई थीं, वहीं अमरनाथ यात्रा भी समय से पहले खत्म कर दी गई थी।

 

23 जून से होगी अमरनाथ यात्रा
अमरनाथ यात्रा 2020 का शुभारंभ 23 जून से होगा। 43 दिनों तक चलने वाली यह यात्रा 3 अगस्त को खत्म हो जाएगी। पिछले साल अगस्त में जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटने के बाद उपजे तनाव के मद्देनजर अमरनाथ यात्रा को जल्द खत्म कर दिया गया था।

 

एक मार्च से शुरू हो रजिस्ट्रेशन
इधर, मध्यप्रदेश से जाने वाले शिवभक्तों ने अमरनाथ यात्रा के पंजीयन की तारीख और पहले से करने की मांग की है। ओम शिव शक्ति सेवा मंडल के सचिव रिंकू भटेजा के मुताबिक इस साल की अमरनाथ यात्रा 23 जून से 3 अगस्त तक चलेगी। ऐसे में यदि पंजीयन जल्दी हो जाएगा तो श्रद्धालुओं को समय पर मेडिकल करवाना और रेलवे से रिजर्वेशन करवाने में काफी सुविधा हो जाएगी।


श्राइन बोर्ड ने हाल ही में अमरनाथ यात्रा का पूरा कार्यक्रम और दिशा निर्देश जारी कर दिए हैं। एक अप्रैल से अमरनाथ यात्रा के रजिस्ट्रेशन शुरू होने के कारण यात्री काफी चिंतित हैं। क्योंकि यात्रा पंजीयन के बाद ही रेलवे से रिजर्वेशन करवाना होता है। यदि थोड़ा भी विलंब होगा तो रिजर्वेशन मिलना मुश्किल हो जाएगा।

 

यह भी है खास
-अमरनाथ यात्रा में इस बार भी 13 साल से कम उम्र के बच्चों का पंजीयन नहीं होगा, वहीं 75 साल से अधिक उम्र वाले भी नहीं जा पाएंगे। पंजीयन के साथ मेडिकल करवाना भी जरूरी रहेगा।
-बोर्ड की गाइडलाइन के मुताबिक यात्रा को पॉलीथिन फ्री बनाया जा रहा है। इस रूट पर प्लास्टिक की बोतल, पन्नी या डिस्पोजल प्रतिबंधित रहेंगे।
-अमरनाथ यात्रियों की दुर्घटना बीमा राशि तीन लाख रुपए कर दी गई थी। यह बीमा राशि उन्हीं लोगों के लिए मान्य होगी, जो श्राइन बोर्ड या उसके द्व‌ारा अधिकृत बैंकों से पंजीयन करवाकर ही यात्रा करेंगे।

 

amarnath2.jpg

ऐसे पहुंचे
-यात्री हेलिकाप्टर से भी बाबा अमरनाथ के दर्शन करने जा सकते हैं। इसके लिए लगभग 12 से 22 हजार रुपए तक किराया है।
-मध्यप्रदेश के लोग भोपाल से दिल्ली और दिल्ली से जम्मू फ्लाइट से जा सकते हैं। वहां से जत्थे में शामिल हो सकते हैं।
-इंदौर क्षेत्र के श्रद्धालुओं के लिए मालवा एक्सप्रेस जम्मू तक जाती है, वहीं भोपाल से गुजरने वाली झेलम और अंडमान एक्सप्रेस से भी यात्रा कर सीधे जम्मू का रिजर्वेशन करवा सकते हैं।

 

ऐसे करें फार्म डाउनलोड

हेल्थ सर्टिफिकेट
ठहरने की व्यवस्था

अधिक जानकारी के लिए देखें अमरनाथ श्राइन बोर्ड की वेबसाइट

http://www.shriamarnathjishrine.com/

Show More
Manish Gite
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned