कांग्रेस के अंदर कलह: बैठक में छलका नेताओ का दर्द, बोले संगठन में परिवर्तन की जरूरत

कांग्रेस के अंदर कलह: बैठक में छलका नेताओ का दर्द, बोले संगठन में परिवर्तन की जरूरत

Deepesh Tiwari | Updated: 15 Jun 2019, 04:28:24 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

PCC कार्यालय में किसान कांग्रेस की बैठक...

भोपाल@अरुण तिवारी की रिपोर्ट...

मध्यप्रदेश में कांग्रेस के अंदर की कलह एक बार फिर खुलकर सामने आ गई है। एक ओर जहां विधानसभा चुनावों से पहले कांग्रेस में एकता देखने को मिली थी, जिसके चलते कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में भाजपा की सरकार को सत्ता से बाहर तक किया था। वहीं लोकसभा चुनावों में मिली हार के बाद से कांग्रेस में एक बार फिर कलह शुरू हो गई है।

दरअसल मध्यप्रदेश के भोपाल के पीसीसी कार्यालय में शनिवार को हुई बैठक के दौरान कांग्रेस के आला नेताओं को जमकर विरोध का सामना करना पड़ा। इस दौरान सरकार में तवज्जों ना मिलने से किसान कांग्रेस के नेताओं की नाराजगी खुलकर सामने आई।

congress flags

ऐसे लगे आरोप: कांग्रेस में दो तरह के नेता...

बैठक के दौरान रीवा किसान कांग्रेस के अध्यक्ष सुरेंद्र पाठक ने सवाल उठाते हुए कहा कि कांगेस में सिर्फ बार बार हारने वालों को ही टिकट क्यों दिया जाता है।

उन्होंने कहा ऐसा क्या कारण है कि टिकट बांटते समय हमसे नहीं पूछा जाता है, इसके साथ ही जो केंडिटेट होता है वो किसी की नहीं सुनता है।

 

संगठन में परिवर्तन की जरूरत

रीवा किसान कांग्रेस के अध्यक्ष का यहां कहना था कि कांगेस में दो तरह के नेता हो गए हैं, एक स्थापित नेता और दूसरे विस्थापित नेता। ऐसे में कांगेस संगठन में परिवर्तन करने की जरूरत है आखिर कब तक हम विधवा विलाप करेंगे।

power cut

बैठक में कई बार हुई बिजली गुल...

वहीं बैठक के दौरान बार बार बिजली के चले जाने पर भी नेताओं ने सवाल उठाए, उनका सवाल था कि आखिर भरपूर बिजली है, तो क्यों यह बार बार गायब हो रही है।


कांग्रेस: राजा महाराजा की पार्टी...

बैठक में नेताओं पर आरोप लगाते हुए कहा कि कांग्रेस अब राजा महाराजा की पार्टी बन कर रह गई है।

 

गुर्जर के तेवर: विधायक बनने पर अहंकार...

इस किसान कांग्रेस पदाधिकारियों की बैठक में किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुर्जर ने खुलकर तेवर दिखाते हुए कहा कि कोई भी विधायक बन जाए अहंकार हो जाता है, यहां उन्होंने ये भी सवाल खड़ा किया कि आखिर क्यों कटनी में संगठन खड़ा नहीं कर पा रहे हैं?

congress in tension

उन्होंने कहा कि यहां सारे पद संजय पाठक के कहने पर दिए, उसका परिणाम ये हुआ कि संजय पाठक पार्टी छोड़ कर गया, तो कोई काम करने वाला बचा ही नहीं।

 

विधायकों की निष्ठा: गिरा देंगे सरकार!...

वहीं विधायकों की निष्ठा पर सवाल उठाते हुए दिनेश गुर्जर ने कहा कि मुझे कहने में कोई डर नहीं है पहले विधानसभा के टिकट के लिए तरस रहे थे, विधायक बनने के बाद आज क्या कह रहे हैं मंत्री बनाओं नहीं तो सरकार को गिरा देंगे यह कौन लोग हैं। इनको देखना पड़ेगा।

विधानसभा चुनाव से पहले किसान कलश यात्रा में किसी भी बड़े नेता ने सहयोग नहीं किया आप किसी को फोन लगाकर पूछो कौन नेता कार्यक्रम में मौजूद थे। उन्होंने कहा कि 48 डिग्री टेंपरेचर में किसान कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने की पार्टी के लिए मेहनत की।

ये रखीं बातें:

इस बैठक के दौरान कहा गया कि जिला स्तर बनने वाली समितियों में अनिवार्य रूप से संगठन के पदाधिकारियों को जगह दी जाए।

इसके अलावा आने वाले चुनावों में नगर पालिका नगर पंचायत अध्यक्ष और महापौर के चुनाव में संगठन के लोगों को जगह मिले ।

वहीं सवाल पुछते हुए कहा कि आज अगर कांग्रेस संगठन के लोगों को तवज्जो नहीं देगी, तो आने वाले समय में अगर आप अपेक्षा करें कि यह लोग वोट दिला देंगे तो कहां से वोट दिलाएंगे।

वहीं कांग्रेस के दूसरे संगठनों पर सवाल उठाते हुए दिनेश गुर्जर ने कहा कि आप दूसरे संगठनों को देख लो, किसान कांग्रेस के कार्यकर्ताओं से अगर कहेंगे कि तीसरी मंजिल से छलांग लगा दो, तो वह पार्टी के लिए जान भी दे देगा।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned