scriptArise god... Tulsi marriage will be with mantras | उठो देव सांवले...घर-घर मंत्रों के साथ होगा तुलसी विवाह | Patrika News

उठो देव सांवले...घर-घर मंत्रों के साथ होगा तुलसी विवाह

देवउठनी एकादशी आज: घर-घर सजेंगे गन्ने के मंडप, शहर में दिवाली सा दिखेगा उत्साह, होगी रंगारंग आतिशबाजी

भोपाल

Published: November 15, 2021 01:24:12 am

भोपाल. देवउठनी एकादशी पर सोमवार को शहर में एक बार फिर दिवाली जैसी रौनक नजर आएगी। सोमवार श्रद्धालु बेर भाजी आंवला, उठो देव सांवला के मनुहार के साथ भगवान को जगाएंगे। घर-घर आंगन में गन्ने के मंडप सजाए जाएंगे और विवाह मंत्रों के साथ तुलसी-सालिगराम विवाह होगा। इसके बाद रंगारंग आतिशबाजी की जाएगी।
उठो देव सांवले...घर-घर मंत्रों के साथ होगा तुलसी विवाह
उठो देव सांवले...घर-घर मंत्रों के साथ होगा तुलसी विवाह
बाजारों में सज गई पूजन सामग्री की दुकानें
देवउठनी एकादशी के पहले शहर में अनेक स्थानों पर गन्ने की ढेरिया और पूजन सामग्री की दुकाने लग गई है। शहर में जगह-जगह गन्ने की ढेरियां नजर आ रही है और लोग गन्नों की खरीदारी कर रहे है। शहर के माता मंदिर, न्यू मार्केट, जहांगीराबाद, कोलार रोड, बावडि़यां सहित अनेक स्थानों पर गन्नों की बिक्री शुरू हो गई है। इस बार गन्ना २५ से ३० रुपए प्रतिनग मिल रहा है। इसी प्रकार एकादशी में इस्तेमाल होने वाली पूजन सामग्री की दुकाने भी जगह-जगह सज गई है।
हल्दी, मेहंदी लगेगी, निकलेगी बारात
करुणाधाम आश्रम नेहरू नगर में देवउठनी एकादशी पर विवाह की अनेक रस्मों का निर्वहन होगा। आश्रम के सेवक वर और वधु पक्ष के रूप में शामिल रहेंगे। इस दौरान हल्दी, मेंहदी की रस्में होगी। शाम को नेहरू नगर चौराहे से बारात निकलेगी, जो महालक्ष्मी मंदिर पहुंचेगी। यहां विवाह की रस्मंे होगी।
चातुर्मास का होगा समापन
देवउठनी एकादशी के साथ ही चातुर्मास का समापन होगा और शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाएगी। देव सोए होने के कारण चार माह तक गृह प्रवेश, विवाह, मुंडन संस्कार, प्राण प्रतिष्ठा आदि मांगलिक कार्य नहीं होते हैं। देवउठनी एकादशी पर भगवान जागृत होते हैं। इसी परम्परा का निर्वाह करते हुए श्रद्धालु भगवान विष्णु को ढोल मंजीरों और भजन कीर्तन के साथ जगाएंगे और तुलसी और सालिगराम का विवाह कराया जाएगा। घरों के आंगन में गन्ने से मंडप सजाया जाएगा और विवाह मंत्रों के परंपरा का निर्वाह होगा।
२१ जोड़ों द्वारा कराया जाएगा विवाह
देवउठनी एकादशी के मौके पर नथमल धर्मशाला लखेरापुरा में २१ जोड़ों द्वारा तुलसी सालिगराम विवाह का आयोजन किया जाएगा। अनुपम अग्रवाल ने बताया कि इस दौरान पंडितों द्वारा विधि विधान के साथ विवाह की रस्में कराई जाएगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

भारत ने निर्धारित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर बैन 28 फरवरी तक बढ़ायासानिया मिर्जा ने किया संन्यास का ऐलान, बोलीं-'मेरा शरीर खराब हो रहा है'UP Assembly Elections 2022 : अखिलेश यादव ने कहा सपा की सरकार बनी तो महिलाओं को देंगे 1500 रुपये प्रति महीने पेंशनMaharashtra Nagar Panchayat Election Result: 106 नगरपंचायतों के चुनावों की वोटों की गिनती जारी, कई दिग्‍गजों की प्रतिष्‍ठा दांव परOBC Reservation: ओबीसी राजनीतिक आरक्षण पर आज सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई, आ सकता है बड़ा फैसलाUP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपी10 कंट्रोवर्शियल विधानसभा सीटें जहां से दिग्गज ठोकेंगे चुनावी ताल, समझें राजनीतिक समीकरणचीन की धमकी से डरा पाकिस्तान, चीनी इंजीनियरों को देना पड़ेगा अरबों का मुआवजा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.