जोड़ों के दर्द और अर्थराइटिस में आराम दिलाती है दालचीनी, इन 3 तरीकों से करें इलाज

जोड़ों के दर्द और अर्थराइटिस में आराम दिलाती है दालचीनी, इन 3 तरीकों से करें इलाज

Faiz Mubarak | Publish: Apr, 17 2019 01:22:24 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

जोड़ों के दर्द और अर्थराइटिस में आराम दिलाती है दालचीनी, इन 3 तरीकों से करें इलाज

भोपालः अकसर 40 की उम्र पार करने के बाद लोगों को ज्यादा वज़न, कमजोरी या शरीर में पोषक तत्वों की कमी के चलते अर्थराइटिस या गठिया की समस्या से जूझना पड़ता है। ये समस्या इतना विकराल रूप लेती जा रही है कि, हर दस में से चार घरों के बुजुर्गों को इसकी पीड़ा से गुज़रना पड़ रहा है। राजधानी भोपाल के जय प्रकाश चिकित्सालय के हड्डी विभाग के चिकित्सक ने बताया कि, यहां रोजाना जोड़ों के दर्द और अर्थराइटिस के सेकड़ों मरीज आ रहे हैं, जिनकी तादाद दिन ब दिन बढ़ती ही जा रही है। उन्होंने बताया कि, आमतौर पर इस दर्द का ज्यादा प्रभाव घुटनों, कोहनी, उंगलियों और तलवों में होता है। कई बार दर्द दर्द से ग्रस्त स्थान पर सूजन भी आने लगती है।

इस दर्द के कारण व्यक्ति को होने वाली तकलीफ के चलते दिनचर्या ही ठप्प हो जाती है, ऐसे में उसका चलना-फिरना, उठना-बैठना मुसीबत बन जाता है। इस तरह के दर्द में पीड़ित को हमेशा के लिए एक खास तरह की दवा उपचार स्वरूप दे दी जाती है। जब तक आप उस दवा का सेवन करते रहते हैं, तब तक आपकी तकलीफ ठीक रहती है, लेकिन अगर किसी दिन आप दवा नहीं ले पाते तो ये तकलीफ जस की तस दौबारा होने लगती है। हालांकि, गर्म दवाओं का रोजाना सेवन कई लोगों को अन्य नुकसान भी पहुंचा देता है। ऐसे में आयुर्वेद में बताए गए नुस्खे इस समस्या के निराकरण के लिए बेहतर साबित हो सकते हैं और सबसे खास बात इसके सेवन से किसी तरह के अन्य नुकसान की आशंका भी नहीं रहती। आयुर्वेद के अनुसार, अर्थराइटिस और जोड़ों के दर्द में दालचीनी का इस्तेमाल बेहद कारगर उपचार होता है। दालचीनी के अलग-अलग प्रयोग से इस पीड़ा दायक बीमारी से निजात पाई जा सकती है। आइये जानते हैं इस समस्या से निजात दिलाने में दालचीनी कितनी तरह से कारगर है।

 

दालचीनी से करें जोड़ों के दर्द और अर्थराइटिस का इलाज

1-दालचीनी पेस्ट का लेप

दालचीनी को पीसकर उसका पाऊडर बना लें। इसमें कुछ बूंदे पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बना लें। दस से पंद्रह मिनट इसे ढंककर रख दें। इसके बाद इसका लेप ग्रस्त स्थान पर लगा लें। साथ ही, इसे ऊपर से किसी सूती कपड़े से ढंक लें। ऐसा करने से आपको दर्द और सूजन में राहत मिलेगी।

2-दालचीनी और शहद

डेढ़ चम्मच दालचीनी पाऊडर में एक चम्मच शहद मिला लें। रोज़ाना सुबह खाली पेट इसे एक कप गर्म पानी के साथ पियें। दालचीनी और शहद का मिश्रण जोड़ों में जमा यूरिक एसिड को कम करता है, जिससे अर्थराइटिस धीरे-धीरे कम होने लगता है। एक सप्ताह में इसका असर दिखने लगेगा।

3-सप्ताह में 2 बार पिएं ये स्पेशल चाय

आयुर्वेद से लाभ तो धीरे धीरे मिलता है, लेकिन समस्या का निवारण जड़ से होता है। इस तरह के दर्द में निवारण के लिए सप्ताह में दो बार स्पेशल चाय पीना चाहिए। इस चाय को बनाने के लिए 250 ग्राम दूध व उतने ही पानी में दो लहसुन की कलियां, एक-एक चम्मच सौंठ या हरड़ तथा एक-एक दालचीनी और हरी इलायची डालकर उसे अच्छी तरह से धीमी आंच पर पकाएं। जब पानी जल जाए, तो उस दूध को पियें, गठिया रोग में राहत नज़र आने लगेगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned