टेरर फंडिंग मामले में बलराम, सुनील और शुभम गिरफ्तार, ओवैसी ने धर्म से जोड़ अमित शाह से किया सवाल

टेरर फंडिंग मामले में बलराम, सुनील और शुभम गिरफ्तार, ओवैसी ने धर्म से जोड़ अमित शाह से किया सवाल

Muneshwar Kumar | Updated: 23 Aug 2019, 06:46:55 PM (IST) Bhopal, Bhopal, Madhya Pradesh, India

टेरर फंडिंग के आरोपियों की गिरफ्तारी को ओवैसी ने धर्म से जोड़ा, पीएम मोदी से बयान वापस लेने की मांग की

 

भोपाल. पाकिस्तानी हैंडलरों के लिए टेरर फंडिंग का काम कर रहे तीन युवाओं को मध्यप्रदेश एटीएस ने गिरफ्तार किया है। इन सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है। इनसे पूछताछ के दौरान कई अहम जानकारियां मिली हैं। ये सभी युवक पाकिस्तान में बैठे आकाओं के इशारे पर काम करते थे। अब इनकी गिरफ्तारी को धर्म से भी जोड़ा जाने लगा है। असदुद्दीन ओवैसी ने इनकी गिरफ्तारी को धर्म से जोड़ते हुए ट्वीट किया है और अमित शाह से सवाल भी।


एआईएमआईएम के चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर लिखा कि टेरर फंडिंग के नाम नामजद अभियुक्त हैं बलराम, सुनील और सुभम। इन नामों को भी आतंकनिरोधी कानून में शामिल होंगे या फिर यह एक ही समुदाय के लिए रिजर्व है। मेरे समझ से आतंकवाद का कोई धर्म नहीं होता है। क्या पीएम ने वर्धा में कही बात को अब वापस लेंगे।

87.jpg

 

दूसरे ट्वीट में असदुद्दीन ओवैसी ने लिखा कि बलराम टेरर फंडिंग के मामले में ही बेल पर था और वह अब नए लोगों को रिक्रूट कर रहा था। ओवैसी ने लिखा कि मेरे हिसाब से, अगर अमित शाह वाकई राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं तो उन्होंने अंदर के दुश्मनों के बारे में कल्पना नहीं की होगी।

8_2.jpg


दरअसल, मध्यप्रदेश की एटीएस ने बुधवार की रात सुनील सिंह, बलराम सिंह और शुभम मिश्रा को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही दो लोगों को संदेह के आधार पर भी गिरफ्तार किया है। जिसमें भागेंद्र सिंह और गोविंद कुशवाहा है। ये सभी लोग टेरर फंडिंग के काम से जुड़े थे। इसमें बलराम सिंह पहले भी जेल जा चुका है। जेल से छूटने के बाद वह फिर से इस काम में लग गया था। एटीएस की टीम ने बलराम सिंह के पास से दो कीमती बाइक बरामद किया है।

03_3.png

 

आठ फीसदी मिलता था कमीशन
सूत्रों के अनुसार बलराम सिंह, सुनील सिंह और शुभम मिश्रा को बैंक खातों में रकम ट्रांसफर करने के मामले में पकड़ा गया है। आशंका है कि यह पाकिस्तानी आकाओं के इशारे पर रकम को इधर से उधर करने का काम कर रहे थे। इस काम के लिए इन्हें 8 फीसदी काम मिलता था। कमीशन में हर दिन 10 से 15000 रुपये की कमाई होती थी। जांच एजेंसी इन सभी बातों की पुष्टि कर रही है। बलराम एक बार में पचास हजार से कम की राशि का ट्रांजेक्शन करता था।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned