पुलिस के बेटे ने साथी के साथ मिलकर वकील का सिर में कड़े से फोड़ा

पुलिस के बेटे ने साथी के साथ मिलकर वकील का सिर में कड़े से फोड़ा

Bhalendra Malhotra | Publish: Dec, 08 2017 08:41:59 AM (IST) Bhopal, Madhya Pradesh, India

पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में लिया है। जिनमें एक पुलिसकर्मी का बेटा बताया जा रहा है, आरोपियों ने वकील को गलत तरीके से वाहन चलाकर कट मारा

भालेंद्र मल्होत्रा

भोपाल. टीटी नगर इलाके में नानके पेट्रोल पंप के पास एक्टिवा सवार युवकों ने वकील के साथ मारपीट कर दी। आरोपियों ने वकील के सिर में कड़ा से हमला किया। जिससे उनके सिर में गंभीर चोट लगी है। बताया गया कि आरोपियों ने वकील को गलत तरीके से वाहन चलाकर कट मारा, जिसका वकील ने विरोध किया तो आरोपियों ने मारपीट कर दी। पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में लिया है। जिनमें एक पुलिसकर्मी का बेटा बताया जा रहा है। हालांकि पुलिस इससे इंकार कर रही है।
पुलिस के मुताबिक न्यू-चौकसे नगर, बैरसिया रोड निवासी अशोक विश्वकर्मा वकील हैं। उन्होंने पुलिस को बताया कि गुरुवार शाम को टीटी नगर पोस्ट ऑफिस से नानके पेट्रोल पंप से होते हुए ई-2 अरेरा कॉलोनी अपने दफ्तर आ रहे थे। इसी बीच एक्टिवा सवार तीन युवकों ने उन्हें कट मार दिया। वह सड़क पर गिरने से बाल-बाल बचे। इसका जब अशोक ने विरोध किया तो आरोपियों ने रास्ता रोककर उनके साथ मारपीट कर दी। इसी बीच एक आरोपी ने हाथ से कड़ा उतारकर उनके सिर पर हमला कर दिया। वकील ने मदद के लिए शोर मचाया तो आरोपी भाग खड़े हुए। जबकि एक को उन्होंने पकड़ कर पुलिस के हवाले कर दिया। पकड़े गए आरोपी की पहचान नितेश सिंह के रूप में हुई है। बताया जा रहा कि नितेश के पिता एसएएफ में पदस्थ हैं। हालांकि पुलिस ने इसकी पुष्टि नहीं की है। नितेश ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि उसके साथ यश और उसका एक अन्य साथी था। इधर, वकील ने पुलिस पर एफआइआर दर्ज कराने में आनाकानी करने के भी आरोप लगाए हैं।

बाइक से निकाल ली चाबी

वकील ने पुलिस को बताया कि आरोपियों ने उनके बाइक के आगे अपनी सफेद कलर की एक्टिवा लगाकर पहले रोका। इसके बाद मेरी बाइक की चाबी छीन ली। जब मैने विरोध किया तो आरोपी मारपीट करने लगे। वह शराब के लिए पैसा मांग रहे थे। इसी बीच मेरे दोस्त आ गए। जिनमें एक आरोपी को पकड़ लिया गया।

इधर, अयोध्या नगर इलाके में खुदकुशी:-

इधर, अयोध्या नगर इलाके में राष्ट्रीय बीज निगम के मैनेजर की पत्नी ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस का कहना है कि महिला डिप्रेशन का शिकार थी, उसका इलाज चल रहा था। घटना स्थल पर सुसाइड नोट नहीं मिलने से आत्महत्या की वजह का खुलासा नहीं हो सका है।

काकड़ा अभिनव होम्स निवासी 40 वर्षीय अभिलाषा पवार पति गुरवीर पवार काकड़ा अभिनव होम्स में रहती थी। गुरवीर राष्ट्रीय बीज निगम में मैनेजर हैं। गुरवीर ने पुलिस को बताया कि गुरुवार सुबह वह ड्यूटी आ गए। अभिलाषा घर में अकेली थीं। दोपहर तीन बजे वे घर लौटे तो दरवाजा अंदर से बंद मिला। दरवाजा खटखटाने के बाद कोई जवाब नहीं मिला तो अनहोनी का अंदेशा हुआ। उन्होंने खिड़की का कांच तोड़कर घर के अंदर प्रवेश किया। अंदर जाकर देखा तो पत्नी फांसी के फंदे पर झूल रही थीं। गुरवीर ने तुरंत ही घटना की जानकारी पुलिस को दी।

थाना प्रभारी बलजीत सिंह ने बताया कि अभिलाषा के दो बच्चे आकाश (16), हितांशी (11) हैं। घटना के वक्त दोनों बच्चे भी घर पर नहीं थे। मौके से पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। इस वजह से आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस का कहना कि परिजनों के बयान के बाद ही आत्महत्या की वजह का खुलासा हो सकता है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned