scriptAttention 'Digital dacoits' are watching your hard earned money | सावधान! ‘डिजिटल डकैतों’ की आपकी गाढ़ी कमाई पर नजर | Patrika News

सावधान! ‘डिजिटल डकैतों’ की आपकी गाढ़ी कमाई पर नजर

साइबर क्राइम -एक साल में मप्र में साइबर बैंकिंग धोखाधड़ी के 145 केस

भोपाल

Published: July 28, 2022 05:22:49 pm

भोपाल। रुपयों के ई-लेनदेन के बढ़ते चलन के बीच साइबर बैंकिंग धोखाधड़ी के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। राष्ट्रीयकृत बैंकों की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक एक साल में यानी वर्ष 2021-22 में मध्यप्रदेश में साइबर बैंकिंग फ्रॉड के 145 केस सामने आए।

cyber_crime02.jpg

इनमें खाताधारकों को 1.23 करोड़ रुपए की चपत लगी। समय रहते बैंकों की दी गई जानकारी से नुकसान हुई राशि का आंकड़ा आठ लाख रुपए रहा। वर्ष 2020-21 में राज्य में इस तरह के 88 केस थे, जिनमें अपराधियों ने 1.14 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी की थी। 2019-20 में सबसे अधिक 254 मामले दर्ज हुए थे और इनमें 59 लाख रुपए की राशि की धोखाधड़ी की गई।

साइबर अपराधी फिशिंग, विशिंग और स्किमिंग से बैंक खाताधारकों को ठगी का शिकार बनाते हैं। जानकारों के मुताबिक साइबर फ्रॉड के ये वे मामले हैं, जिनकी जानकारी बैंकों को दी गई और इनमें राशि अधिक थी। अधिकतर मामले ऐसे भी हैं, जिन्हें दर्ज नहीं कराया गया है।

4866- केस फ्रॉड के सबसे ज्यादा तमिलनाडु में रेकॉर्ड हुए।

साइबर फ्रॉड में 14वें नंबर पर मध्यप्रदेश
देश में 2021-22 में साइबर फ्रॉड के 13,951 केस रहे। 76.49 करोड़ रुपए अपराधियों के निशाने पर थे। 25.77 करोड़ रिकवर नहीं किए जा सके। फ्रॉड में मप्र 14वें नंबर पर है। सबसे अधिक 4866 केस तमिलनाडु में आए। 2443 केस के साथ महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर है। यूपी (1027 केस) तीसरे नंबर था।

सतर्कता की जरूरत
: इंटरनेशनल ट्रांजेक्शन की जरूरत नहीं है तो डेबिट कार्ड की लिमिट बंद करा दें।
: डोमेस्टिक यूज में भी जरूरत के अनुसार ही लिमिट तय करना चाहिए।
: इनसे क्लोनिंग आसान- कार्ड फिंगरप्रिंट, कार्ड आइएसआइएन, कस्टमर आइडी व मर्चेंट अकाउंट से साइबर अपराधी आसानी से कार्ड स्वाइप कर लेता है।

फिशिंग: साइबर ठग लोगों को बैंकों से मिलते-जुलते या अन्य लुभावने ऑफर वाले ईमेल भेजते हैं। लिंक पर क्लिक करने के बाद गोपनीय जानकारी मांगी जाती है। ठग कंपनियों से मिलती-जुलती वेबसाइट तैयार करते हैं, लोग जानकारी मुहैया करा देते हैं। ठग यहां अमाउंट दर्ज करवाते हैं। जैसे ही राशि भरी जाती है तो ओटीपी आता है। इतने में राशि बैंक खाते से कट जाती है।

विशिंग: ठग फोन से जानकारी हासिल करते हैं। इसमें नेटबैंकिंग की आइडी, पासवर्ड आदि शामिल हैं। यहां ठग इनाम-ऑफर का हवाला देकर लोगों को बरगलाते हैं। साइबर ठग मैसेज के जरिए भी नेटबैंकिंग समेत अन्य जानकारी लेने की कोशिश करते हैं।

स्किमिंग: इसमें ठग क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड से ठगी करते हैं। एटीएम या अन्य बैंकिंग में उपयोग आने वाली मशीन में छोटी डिवाइस फिट की जाती है। इस स्किमर से क्रेडिट-डेबिट कार्ड की जानकारी हासिल करने के बाद इससे क्लोन तैयार किया जाता है। स्किमर से पासवर्ड हासिल करने के बाद इस क्लोन कार्ड से बैंकिंग फ्रॉड को अंजाम दिया जाता है।

चूक पड़ेगी भारी
सा इबर ठग रोज नए तरीके से डिजिटल डकैती यानी ठगी की फिराक में रहते हैं। सजग न रहने वाले ग्राहक उनके जाल में फंस जाते हैं। ...और एक गलती से उनका खाता खाली हो जाता है। ये डिजिटल डकैत फेक कॉल, फेक वाई-फाई हॉट स्पॉट, कैशबैक, ऑनलाइन शॉपिंग और लॉटरी लगने जैसे ऑफर सबसे अधिक देते हैं। यही वजह है कि कुल साइबर अपराध में से 60.2त्न केस ऑनलाइन डकैती के होते हैं।

एक्सपर्ट व्यू
ऑनलाइन बैंकिंग फ्रॉड से बचने के लिए कभी किसी को खाते या व्यक्तिगत जानकारी साझा न करें। ईमेल-मैसेज से आई लिंक पर क्लिक न करें। क्लिक कर दिया तो व्यक्तिगत या खाते संबंधी जानकारी न दें। यदि बैंक फ्रॉड होता है तो बैंक-पुलिस को बताएं।
- योगेश पंडित,साइबर सुरक्षा और कानून विशेषज्ञ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Nashik News: कंबल में लेटाकर प्रेग्‍नेंट महिला को पहुंचाया गया हॉस्पिटल, दिल दहला देने वाला वीडियो हुआ वायरलसलमान रुश्दी पर हमला करने वाले की ईरान ने की तारीफ, कहा - 'हमला करने वाले को एक हजार बार सलाम'58% संक्रामक रोग जलवायु परिवर्तन से हुए बदतर: प्रोफेसर मोरा ने बताया, जलवायु परिवर्तन से है उनके घुटने के दर्द का संबंध14 अगस्त स्मृति दिवस: वो तारीख जब छलनी हुआ भारत मां का सीना, देश के हुए थे दो टुकड़ेआरएसएस नेता इंद्रेश कुमार का बड़ा बयान, बापू की छोटी सी भूल ने भारत के टुकड़े करा दिएHimachal Pradesh: जबरदस्ती धर्म परिवर्तन करवाने पर होगी 10 साल की जेल, लगेगा भारी जुर्मानाDGCA ने एयरपोर्ट पर पक्षियों के हमले को रोकने के लिए जारी किया दिशा-निर्देश'हर घर तिरंगा' अभियान में शामिल हुई PM नरेंद्र मोदी की मां हीराबेन, बच्‍चों के संग फहराया राष्‍ट्रीय ध्‍वज
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.