इन रिश्तों को कभी नहीं करना नज़रअंदाज, वरना हो जाओगे बर्बाद

Faiz Mubarak

Publish: Jul, 13 2018 04:50:29 PM (IST)

Bhopal, Madhya Pradesh, India
इन रिश्तों को कभी नहीं करना नज़रअंदाज, वरना हो जाओगे बर्बाद

इन रिश्तों को कभी नहीं करना नज़रअंदाज, वरना हो जाओगे बर्बाद

भोपालः वैसे तो हर इंसान की पहचान दुनिया में कई लोगों से होती है। लेकिन हर इंसान की ज़िंदगी में कोई ना कोई एक ऐसा ज़रूर होता है, जो उसके काफी करीब होता है। जिससे वह अपना हर सुख दुख बांट सकता है। आप भूलकर भी कभी नहीं चाहते कि ऐसे लोगों को कभी किसी बात कि कोई परेशानी हो। लेकिन, कभी जानबूझकर तो कभी अंजाने में हमसे कुछ ऐसा हो जाता है जिसकी वजह से इन खास लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ जाता है। अक्सर देखा जाता है कि कुछ लोग अपने स्वार्थ के लिए दूसरों को धोखा देने से नही चुकते। आज हम आपको कुछ ऐसे लोगों के बारे में बताएंगे, जिन्हें धोखा देने से इंसान का सबसे ज्यादा नुकसान होता है।

भूलकर भी इन लोगों को धोखा न दें

-माता पिता

दुनिया में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति होगा, जो अपने माता-पिता से प्यार न करता हो, क्योंकि उनसे बड़ा स्थान दुनिया में और किसी नही होता। कई लोगों के लिए उनके माता पिता भगवान होते हैं। लेकिन, कई बार ऐसा देखा जाता है कि बच्चे अपने माता पिता के साथ कुछ गलत करते हैं। या फिर शादी हो जाने के बाद उनके साथ दुर्वव्यवहार करते हैं। तो ऐसे लोगों को बता दें कि आपको इसका गंभीर परिणाम भुगतना पड़ सकता है। इसलिए आपको कभी भी भूलकर भी अपने माता पिता के साथ ऐसा न करें जिससे उन्हें तकलीफ हो। माता पिता से धोखा करना दुनिया का महापाप है। जो संतान अपने मां-बाप को तकलीफ देती है उसकी बर्बादी तय है। इस बता का ध्यान रखें कि, ऐसा कभी ना हो, जिससे माता पिता को आपके कारण तकलीफ हो।

-पत्नी

इंसान की पत्नि ही उसका असली जीवनसाथी माना जाता है। केयोंकि, पत्नी ही हर विपदा में आपका साथ देती है। चाहे सुख हो या फिर दुख पत्नी हर समय पति के साथ होती है। अपने मां बाप का घर छोड़कर वह अपने पति के घर आती है और उसका पति उसके लिए सब कुछ होता है। ऐसे में अगर कोई व्यक्ति अपनी पत्नी को धोखा देता है तो इसे भी भंयकर पाप माना गया है। ऐसे व्यक्ति को कभी भी सुखी नहीं रह सकते, क्योंकि, तब तक तो कोई बात नही जब तक बात सिर्फ बिगाड़ पर है, लेकिन जिस समय पत्नि साथ छोड़ देगी तो फिर कोई भी उसका साथ देने वाला नहीं।

-खुद को

कई बार देखा जाता है कि लोग अपने आप को ही नज़रअंदाज़ करते हैं, खुद का महत्व ही नहीं समझते। ज़िंदगी में उनका कोई लक्ष्य ही नहीं है। ऐसा करके व्यक्ति सिर्फ खिुद को ही धोखा दे रहा होता है। अगर कोई व्यक्ति स्वयं के साथ इंमानदार नहीं है तो वह कभी भी दूसरों के साथ इंमानदार नहीं हो सकता है। इसलिए सबसे पहले इंसान को खुद के साथ इंमानदार होना चाहिए। खुद से ईमानदार ना रहने वाला व्यक्ति कभी भी बर्बाद हो जाता है।

Ad Block is Banned