10 साल पुरानी परीक्षा फॉर्म फीस जमा नहीं करने वाले 55 कॉलेजों की संबद्धता पर संकट

बीयू ने दी 20 फरवरी तक की आखिरी मोहलत। वर्ष 2010-2014 की 17.11 लाख रुपए बाकी है परीक्षा फॉर्म फीस

भोपाल। बरकतउल्ला विश्वविद्यालय से संबद्ध 55 शासकीय व निजी महाविद्यालयों ने वर्ष 2010-2014 के दौरान करीब 17.11 लाख रुपए परीक्षा फॉर्म फीस जमा नहीं कराई। इनमें 13 शासकीय व 42 प्राइवेट महाविद्यालय शामिल हैं। विवि की ओर से इन महाविद्यालयों को कई बार लिखित व मौखिक रूप से अवगत कराया गया लेकिन महाविद्यालयों द्वारा यह राशि जमा नहीं कराई गई।

 

इस मामले में स्थानीय निधि संपरीक्षा, महालेखागार ग्वालियर और विधानसभा लोक लेखा समिति द्वारा गंभीर आपत्ति ली गई। इसके अलावा विधानसभा सचिवालय और उच्च शिक्षा विभाग ने भी विवि पर नाराजगी जाहिर की। ऐसे में अब विवि की ओर सभी महाविद्यालयों को अंतिम चेतावनी देते हुए 20 फरवरी तक यह राशि विवि के खाते में अनिवार्य रूप से जमा कराने को कहा है। विवि के कुलसचिव डॉ. बी.भारती ने बताया कि अगर इस समयावधि में महाविद्यालयों द्वारा राशि जमा नहीं कराई जाती है तो शासकीय कॉलेजों के प्राचार्यों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई के लिए शासन को लिखा जाएगा। और निजी महाविद्यालयों की संबद्धता समाप्त की जाएगी।

 

प्रमुख शासकीय कॉलेज
शासकीय कॉलेज, बरेली- 1.10 लाख
शासकीय गल्र्स कॉलेज, विदिशा - 61 हजार
शासकीय कॉलेज, भैंसदेही - 55 हजार

 

प्रमुख प्राइवेट कॉलेज
रवीन्द्र कॉलेज, भोपाल - 1.43 लाख
भोज महाविद्यालय, भोपाल - 1.23 लाख
महात्मा गांधी कॉलेज, सीहोर - 2.48 लाख

 

 

हॉस्टल में अव्यवस्था से परेशान छात्रों ने किया कुलपति कार्यालय का घेराव
भोपाल। बरकतउल्ला विश्वविद्यालय के जवाहर छात्रावास के छात्रों ने अपनी मूलभूत मांगों को लेकर शुक्रवार दोपहर कुलपति कार्यालय के बाहर जमकर नारेबाजी की। इस दौरान छात्रों ने कुलपति मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। छात्रों ने बताया कि छात्रावास में पिछले कई वर्षों से कुर्सी, टेबल, पलंग नहीं खरीदे गए हैं। कुछ पलंग टूटे हुए हैं जिसके कारण सिंगल बेड पर दो छात्रों को सोना पड़ता है। वहीं खाने के बर्तन भी टूटे-फूटे हैं, इसके अलावा छात्रावास का रेनोवेशन नहीं हुआ है और यहां छात्रों के लिए खेल का सामान भी नहीं है। करीब आधे घंटे तक चली नारेबाजी के बाद कुलसचिव डॉ. बी भारती ने छात्रों की समस्याओं को सुना और जल्द समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया। कुलसचिव ने छात्रों से कहा कि सोमवार तक आपको नए बर्तन उपलब्ध करा दिए जाएंगे। इसके अलावा हॉस्टल का सर्वे कराकर डेढ़ महीने में पूरा नया फर्नीचर उपलब्ध कराया जाएगा। वहीं खेल का सामान उपलब्ध कराए जाने के संबंध में कुलसचिव ने कहा जल्द ही छात्रों के लिए जिम्नेशियम शुरू किया जाएगा।

Show More
Bharat pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned